सामने आया सच : गया में ठेकेदार को फंसाने के लिए महादलितों ने खुद अपने घर में लगाई आग, उल्टे आगजनी के केस में फंसा दिया, वीडियो में देखें हकीकत

सामने आया सच : गया में ठेकेदार को फंसाने के लिए महादलितों ने खुद अपने घर में लगाई आग, उल्टे आगजनी के केस में फंसा दिया, वीडियो में देखें हकीकत

GAYA :  गया जिले चाकन्द थाना क्षेत्र का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें अपनी ही फूस की झोपड़ियों में महादलित आग लगाते दिख रहे हैं. ऐसा वे जानबूझकर कर रहे हैं. ताकि उनसे पैसे मांगने आए शख्स को झूठे केस में फंसाने में सफल हो सकें. 

घटना के संदर्भ में मिली जानकारी के अनुसार चाकंद थाना के रसलपुर गांव के रहने वाले नैतिक सिंह ईट भट्टा का संचालन करते हैं. ईंट ढोने के लिए ट्रैक्टर के चालक रूप में रसलपुर भुईंटोली के वीरेंद्र मांझी और छोटू मांझी को रखा था. इसके अलावा कई महादलित मजदूर के रुप में भी काम करते थे. कुछ दिनों से रसलपुर भुईटोली का वीरेंद्र मांझी और फोटो मांझी काम पर नहीं आ रहा था. इसे लेकर नैतिक सिंह अपने कर्ज के रूप में दिए रुपए को मांगने रसलपुर भुुईटोली पहुंचा. वहां पहुंचकर उसने जैसे ही कर्ज के दिए रुपए मांगे तो रसलपुर भुुईटोली के लोग उनके साथ मारपीट करने लगे. मारपीट कर गंभीर रूप से घायल भी कर दिया. इसके बाद ईट भट्टे के मालिक को फंसाने के लिए महादलितों ने खुद अपनी ही फूस की झोपड़ियों में आग लगानी शुरू कर दी. आग लगाने के दौरान वह फंसाने की बात भी कर रहे थे. कह रहे थे, कोई नहीं बोलेगा कि हमारे द्वारा ही आग लगाई गई है।

अब वीडियो हो रहा तेजी से वायरल 

इस तरह की घटना करने के बाद उल्टे महादलित टोले से लोग चाकन्द थाना में गए और नैतिक सिंह व उसके भाई के खिलाफ मारपीट करने  और झोपड़ियों में आग लगाने का केस दर्ज कर दिया. पुलिस ने भी बिना जांच पड़ताल किए एससी- एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर दिया, जिसमें मारपीट करने और महादलितों के घरों में आग लगाने का आरोप लगाया गया. वहीं घायल ईंट भट्टे के मालिक नैतिक सिंह व उसके भाई विपुल कुमार को हिरासत में लेकर इलाज के लिए जयप्रकाश नारायण अस्पताल में भर्ती कराया. फिलहाल नैतिक सिंह और विपुल कुमार का इलाज जेपीएन अस्पताल में चल रहा है. इधर इस तरह का वीडियो वायरल होने के बाद नैतिक सिंह के परिवार के लोग न्याय की मांग करते हुए गुरुवार को एसएसपी कार्यालय को पहुंचे.

पुलिस मामले की जांच करे, फिर हो कार्रवाई

जेपीएन में भर्ती नैतिक सिंह ने बताया कि वायरल हुआ वीडियो पूरी घटना की हकीकत बयां कर रहा है. लेकिन फिर भी पुलिस मुझे न्याय नहीं दे रही है. मांग किया कि इस मामले की जांच कर पुलिस उचित कार्रवाई करे, ताकि मुझे इंसाफ मिल सके. बताया कि वह पैसा मांगने के लिए महादलित टोले पर गए थे. इस दौरान हमला कर दिया और उसे हंसाने के लिए महादलितों ने अपने घरों में खुद आग लगाई. एसएसपी कार्यालय पर पहुंची जिला परिषद सदस्य करिश्मा कुमारी ने बताया कि नैतिक सिंह के साथ जो घटना हुई है, वह गलत है. पुलिस उन्हें न्याय दिलाए. वायरल वीडियो सब कुछ बता रहा है, कि क्या सच्चाई है.

थानाध्यक्ष ने कहा-

इस संबंध में चाकन्द थाना के थानाध्यक्ष मृत्युंजय कुमार ने बताया कि दोनों और से केस दर्ज किया गया है. पुलिस अभिरक्षा में नैतिक सिंह और विपुल कुमार का इलाज चल रहा है, जिन्हें जेल भेजा जाएगा. वही दूसरे पक्ष के छोटू मांझी को भी गिरफ्तार किया गया है. थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना के बीच एक वीडियो सामने आया है, जिसमें महादलितों द्वारा खुद ही अपने घरों में आग लगाने की बात सामने आ रही है. पूरे मामले की छानबीन की जा रही है.


REPORTED BY MANOJ  KUMAR SINGH

Find Us on Facebook

Trending News