TWITTER FEVER: विवादास्पद नीली चिड़िया की एक और उड़ान, एक भी ट्वीट पड़ सकता है भारी, जान लें यह महत्वपूर्ण नियम....

TWITTER FEVER: विवादास्पद नीली चिड़िया की एक और उड़ान, एक भी ट्वीट पड़ सकता है भारी, जान लें यह महत्वपूर्ण नियम....

N4N DESK: ट्विटर आज के समय में इस्तेमाल किया जाने वाला दुनिया का दूसरा सोशल मीडिया हैंडल है। राजनीति हो या बधाई संदेश, ज्यादातर व्यक्ति इसी का इस्तेमाल करते हैं। इन सब से ज्यादा ट्विटर का इस्तेमाल आजकल विवादों में रहने के लिए किया जाने लगा है। किसी भी तरह के विवाद को हवा इसी नीली चिड़िया के पंखो से मिलती है।

हमारे देश के लगभग हर माननीय ट्विटर पर मौजूद हैं। यहां कई बार प्रतिष्ठित व्यक्ति भी विवादों में शब्दों की सीमा लांघ जाते हैं। इस वजह से ट्विटर ने अपने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। जिससे इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की गरिमा बरकरार रहे। खबरों के मुताबिक, ट्विटर ने  अपनी सुरक्षा विशेषताओं को और ज्यादा बेहतर करने के लिए एक नया नियम लागू किया है। यह पहली बार नहीं है की ट्विटर ने ऐसा कुछ किया है, ट्विटर अक्सर ही अपने यूजर्स के सुरक्षा के लिए अपने फीचर्स अपडेट करता रहता है। 

ट्विटर का यह नया फीचर उन अकाउंट को ब्लॉक कर देगा, जो किसी दूसरे के अकाउंट को कोट कर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं या किसी भी प्रकार का गलत काम में उनका हाथ होता है। इस फीचर को लॉन्च करने के पीछे ट्विटर का मुख्य उद्देश यह है कि वह अपने यूजर्स को किसी भी प्रकार के अनचाहे मुसीबतों या परेशानियों से बचाकर रखे।

कैसे कम करेगा यह सेफ्टी फीचर?

ट्विटर का यह नया फीचर उन लोगों का अकाउंट 7 दिनों के लिए बंद कर देगा, जो किसी दूसरे इन्सान के प्रति कोई गलत टिपण्णी करेंगे या किसी के भी अकाउंट पर जाकर कोई गलत कम करेंगे या किसी को अभद्र मेसेज भेज कर परेशान करेंगे। इस फीचर को अपने ट्विटर अकाउंट पर चालू करने के लिए यूजर्स को अपने फोन के सेटिंग में जाकर सेफ्टी मोड को चालू करना पड़ेगा। ट्विटर के सीनियर प्रोडक्ट मेनेजर जर्रोड़ दोहेर्टी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा की “इस फीचर को लोग जैसे ही चालू करेंगे, उसके बाद आपके अकाउंट पर कोई भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति का अकाउंट ट्विटर ऑटो-ब्लॉक कर दिया जाएगा। लगभग 7 दिनों के लिए”। ट्विटर ने यह भी कहा है की ‘जो लोग एक दूसरे से जादा बातचीत करते हैं या फिर आपस में ज्यादा मेलजोल कर रहे हैं, उनका अकाउंट ट्विटर द्वारा ऑटो-ब्लॉक नहीं किया जाएगा’।

ट्विटर के इस फीचर को फरवरी में सैन फ्रैंसिसको की एक कम्पनी ने प्रस्तुत किया था, मगर उस वक्त ट्विटर ने इस फीचर पर विचार करने का निर्णय लिया था। भारत में भी कई ट्रोल अलग-अलग राजनीतिक दल के आइटी सेल से संबद्धित होकर ट्वीटर पर लोगों को परेशान करने के लिए जाने जाते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News