यू-टर्न! शिक्षा मंत्री बोले- TET परीक्षा पर रोक नहीं, रिक्ति व पात्र अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर आयोजित होगी पात्रता परीक्षा

यू-टर्न! शिक्षा मंत्री बोले- TET परीक्षा पर रोक नहीं, रिक्ति व पात्र अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर आयोजित होगी पात्रता परीक्षा

PATNA : बिहार सरकार ने STET परीक्षा नहीं कराने को लेकर यू-टर्न ले लिया है। जहां मंगलवार को राज्य के शिक्षा विभाग ने यह घोषणा की थी कि अब सरकार शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं आयोजित करेगी। वहीं अब इस फैसले के एक दिन बाद ही शिक्षा विभाग ने यू-टर्न ले लिया है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने मामले में अपना स्पष्टीकरण देते हुए साफ कर दिया है कि एस्टेट की परीक्षा स्थायी रूप से नहीं कराने की बात गलत है। यह सिर्फ कुछ समय के लिए स्थगित किया गया है। 

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने स्पष्ट किया है कि सरकार द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा बंद कराने या नहीं कराने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है। वर्तमान में शिक्षक नियुक्ति के लिए सी-टेट या बीटेट दोनों में से किसी परीक्षा में उतीर्ण होने पर अभ्यर्थी पात्र हो जाते हैं और नियुक्ति हेतु अभ्यावेदन देते हैं। 


अभी रिक्तियों के अनुसार पर्याप्त संख्या

शिक्षा मंत्री ने बताया कि वर्तमान रिक्तियों के लिए दोनों परीक्षाओं में उतीर्ण छात्र/अभ्यर्थी संतोषजनक संख्या में पहले से उपलब्ध है। इसके साथ ही सरकार की मंशा है कि छठे चरण की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर तत्काल अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया प्रारंभ करना चाहती है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के द्वारा पात्रता परीक्षा अभी आयोजित करने से अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया प्रभावित होगी और उसमें विलंब होगा। इसी कारण से फिलहाल, राज्य सरकार ने शिक्षक पात्रता परीक्षा स्थगित करने का फैसला लिया है।

अब होगी यह व्यवस्था

शिक्षा मंत्री ने साफ किया पूर्व के परीक्षाओं में उतीर्ण छात्र भी अगले चरण की नियुक्ति प्रक्रिया अविलंब प्रारंभ करने की मांग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति  से निपटने के लिये यह निर्णय लिया गया है कि अगले चरण की नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी करने के बाद जितनी सीटें रिक्त रहेगी, उन सीटों के आधार पर राज्य सरकार परीक्षा आयोजित करेगी। शिक्षा मंत्री ने साफ किया है कि भविष्य में फिर से राज्य सरकार फिर से परीक्षा आयोजित करेगी।

गौरतलब है कि मंगलवार को यह खबर सामने आई थी किप्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक बहाली के लिए बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अब नहीं होगी। शिक्षा विभाग का तर्क दिया था  कि केंद्र सरकार हर साल केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) लेती है, इसलिए राज्य सरकार द्वारा अलग से टीईटी लेने की आवश्यकता नहीं है। इस बाबत प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश ने बिहार बोर्ड के सचिव को पत्र भेज दिया था। जिस पर तरह तरह की प्रतिक्रिया मिलने लगी थी।

Find Us on Facebook

Trending News