पूर्व आईपीएस को घर से घसीटते हुए ले गई यूपी पुलिस, दुष्कर्म पीड़िता को आत्मदाह के लिए उकसाने का है आरोप

पूर्व आईपीएस को घर से घसीटते हुए ले गई यूपी पुलिस, दुष्कर्म पीड़िता को आत्मदाह के लिए उकसाने का है आरोप

LOCKNOW : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले रिटायर्ड IPS अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनकी गिरफ्तारी उस वीडियो के सामने आने के बाद की गई है, जिसमें बीते 16 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट के बाहर एक दुष्कर्म पीड़ित एक युवती ने आत्मदाह करने से पूर्व बयान दिया था। अपने बयान में पीड़िता ने अमिताभ पर रेप के आरोपी BSP सांसद अतुल राय का साथ देने का आरोप लगाया था। जिसमें यूपी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को गिरफ्तार किया है। 

घसीटते हुए ले गए थाने

अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी को लेकर एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें पूर्व आईपीएस को पुलिस जबरन घसीटते हुए ले जा रही है। इसमें वह पुलिस से अरेस्ट वारंट और FIR की कॉपी मांगते हुए दिखाई दे रहे हैं। फिलहाल उन्हें हजरतगंज थाने में रखा गया है। 

बता दें कि रेप पीड़िता और उसके गवाह दोस्त सत्यम राय ने सुप्रीम कोर्ट के बाहर 16 अगस्त को वीडियो बनाकर अमिताभ ठाकुर पर आरोप लगाया था। इसके बाद दोनों ने आग लगाकर आत्मदाह करने की कोशिश की थी। इलाज के दौरान पिछले 21 मई को गवाह और 25 मई को रेप पीड़िता की भी मौत हो गई थी।


एसआईटी जांच के बाद कार्रवाई

पीड़िता ने दिल्ली में आत्मदाह से पहले इस मामले में इंटरनेट मीडिया पर जारी बयान में पूर्व आईपीएस को माफिया मुख्तार अंसारी के इशारे पर बचाने का आरोप लगाते हुए मानसिक शोषण के साथ न्याय से वंचित करने का आरोप लगाया था। बसपा सांसद अतुल राय पर आरोप लगाने वाली पीड़िता के मामले में हुई एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर पूर्व आईपीएस की गिरफ्तारी हुई है। पीड़िता ने मुख्तार अंसारी की शह पर दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को बचाने के लिए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के ऊपर आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप था। 

जांच के बाद गिरफ्तारी की लटक रही थी तलवार

घोसी से बसपा सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगानी वाली लड़की और दुष्कर्म के मामले में गवाह के नई दिल्ली में आग लगाकर आत्मदाह करने के बाद से जबरिया रिटायर आइपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर की मुश्किल बढ़ गई थी। एफआईआर दर्ज होने के बाद आज अमिताभ ठाकुर को गोमतीनगर में उनके घर के बाहर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उनको दुष्कर्म पीड़िता को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

यूपी सीएम से है 36 का आंकड़ा
 अमिताभ ठाकुर पर हुए कार्रवाई को राजनीतिक नजरिए से भी देखा जा रहा है। पूर्व आईपीएस और यूपी के सीएम के बीच गहरी दुश्मनी है। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर आज ही अमिताभ ठाकुर ने अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान किया था। उन्होंने अपनी नई पार्टी का नाम 'अधिकार सेना' रखा है। अमिताभ ने गोरखपुर से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। 21 अगस्त को गोरखपुर में चुनाव प्रचार के लिए जा रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने उन्हें रोककर हाउस अरेस्ट कर लिया था। 

Find Us on Facebook

Trending News