दलित-महादलित की हत्या पर सरकारी नौकरी, चुनाव नजदीक आता देख कर नीतीश कुमार की सिर्फ जुमलेबाजी : उपेन्द्र कुशवाहा

दलित-महादलित की हत्या पर सरकारी नौकरी, चुनाव नजदीक आता देख कर नीतीश कुमार की सिर्फ जुमलेबाजी :  उपेन्द्र कुशवाहा

Patna : रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री उपेन्द्र कुशवाहा मुख्यमंत्री द्वारा दलित-महादलित की हत्या पर सरकारी नौकरी देने के एलान को चुनावी स्टंट करार दिया है। 

कुशवाहा ने कहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा दलित-महादलित की हत्या होने पर सरकारी नौकरी देने का जो एलान किया गया है। दरअसल वह सिर्फ चुनाव को देखते हुए जुमलेबाजी भर है। 

रालोसपा सुप्रीमो ने कहा है कि यदि यह जुमला नहीं है तो सीएम नीतीश कुमार जी भूतलक्षी प्रभाव से इसे लागू करवाइए ताकि सरकार की निरंकुशता और निकम्मा पन के कारण मारे जा चुके लोगों के परिजनों को तत्काल लाभ मिले।


उन्होंने कहा है कि बिहार सरकार की विफलता के कारण पहले ही इतने सारे लोगों की हत्या हो चुकी है। बिहार में आवश्यकता है हत्याएं और अपराध रोकने की। लेकिन मुख्यमंत्री जी चुनाव का समय नजदीक देखते हुए इस तरह के जुमले दे रहे हैं। 

उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा है कि बिहार में अब एनडीए की सरकार नहीं आनी है और महागठबंधन की सरकार बनेगी। महागठबंधन की प्राथमिकता होगी बिहार में अपराधिक घटनाओं पर लगाम लगाना। हत्या या इस प्रकार का जघन्य अपराध हो ही ना, इस बात का खयाल रखने की जिम्मेदारी सरकार की होती है। लेकिन 15 वर्षों की इनकी सरकार हर मोर्चे पर विफल है।

Find Us on Facebook

Trending News