अपने कमरे में जिन्ना की तस्वीर लगाने वाले को कांग्रेस ने दिया टिकट, नीतीश से भी मांगा था, लेकिन कर दिया था मना

अपने कमरे में जिन्ना की तस्वीर लगाने वाले को कांग्रेस ने दिया टिकट, नीतीश से भी मांगा था, लेकिन कर दिया था मना

पटना... अपने कमरे के भीतर जिन्ना की तस्वीर लगाकर रखने वाले मशकूर अहमद उस्मानी को कांग्रेस से टिकट दिए जाने के बाद सियासत में घमासान मच गया है। कांग्रेस ने दरभंगा जिले के जाले विधानसभा सीट से मशकूर अहमद उस्मानी को टिकट दिया है। उस्मानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके हैं। उस्मानी को टिकट दिए जाने के बाद से बीजेपी और जेडीयू ने कांग्रेस को ओड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस को देश की एकता और अखंडता से कभी लेना-देना नहीं रहा है। जिसने देश को विभाजन करने का काम किया, उसका समर्थन करने वाले को को टिकट देकर कांग्रेस ने यह बात को साबित भी कर दिया है। इससे पूर्व उस्मानी जेडीयू से भी टिकट मांगा था, लेकिन नीतीश ने साफ तौर पर मना कर दिया था। 

उस्मानी ने कहा, जिन्ना देश का ऐतिहासिक तथ्य

मशकूर अहमद उस्मानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का अध्यक्ष रहने के समय अपने कमरे में जिन्ना की तस्वीर लगाते थे और उनके ही सिद्धांतो का अनुसरण करते थे। वह 2017 में अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ के चुनाव जीतकर अध्यक्ष बने थे। दूसरी बार तब चर्चा में तब बने जब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ के हाॅल में तस्वीर टांगे होने के कारण बीजेपी सांसद ने वीसी को पत्र लिखा था। तस्वीर हटाने की मांग को लेकर हिन्दू वाहिनी के कार्यकर्तओं का एएमयू में घुसने के बाद हंगामा शुरू हुआ था, जिसके बाद लाठीचार्ज करना पड़ा था। उस समय उस्मानी ने कहा था कि हम जिन्ना के विचारधारा का विरोध करते हैं, लेकिन जिन्ना देश के ऐतिहासिक तथ्य हैं, यह भी सही है। 


जेडीयू से भी मांगा था टिकट

जानकारी मुताबिक उस्मानी पहले जेडीयू से टिकट के लिए संपर्क साधा था, लेकिन नीतीश कुमार के साफ मना कर देने के बाद बात नहीं बनी। इसके बाद वो कांग्रेस का रूख कर गए और टिकट भी लेने में सफलता हासिल कर ली। 

कांग्रेस ने किया बचाव

हालाकि कांग्रेस अपने उम्मीदवार के बचाव में उतर आई है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि बीजेपी को पहले अपने गिरेबा में झाकना चाहिए। जो गांधी के हत्यारे का महिमा मंडन करती है, वो आज सवाल कैसे खड़ा कर सकती है। 

राजद ने झाड़ा पल्ला

वहीं, इस पूरे मामले से राजद ने अपना पल्ला झाड़ लिया है। पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस के जाले उम्मीदवार के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। उस्मानी को जिन्ना का समर्थक बताए जाने पर राजद प्रवक्त ने कहा कि हमारा मुद्दा जिन्ना नहीं बल्कि गरीबी और बेरोजगारी के साथ किसानों की समस्या है। 


Find Us on Facebook

Trending News