बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित नहीं होने पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, मांग पूरी नहीं होने पर NH-57 को जाम करने की दी चेतावनी

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित नहीं होने पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, मांग पूरी नहीं होने पर NH-57 को जाम करने की दी चेतावनी

दरभंगा. सदर प्रखंड के  दो माह बीत जाने के बाद भी अभी तक बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित नहीं किये जाने को लेकर वासुदेवपुर पंचायतवासियों ने शुक्रवार को  सड़क पर उतरकर प्रशासन के विरुद्ध आक्रोश जताया है. इन लोगों का कहना है कि पंचायत के अधिकांश वार्ड बाढ़ से ग्रसित था. मुख्य सड़क टूट जाने के कारण कई गांव का आवागमन बाधित हो गया था, घर में पानी चले जाने के कारण लोगों को विस्थापित होना पड़ा था. इसके बावजूद भी अभी तक प्रशासन की तरफ से बाढ़ पीड़ित परिवारों को किसी तरह की राहत सामग्री मुहैया नहीं कराई गई है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सड़कों पर अधिकांश ग्रामीण सड़कों पर बाढ़ का पानी जमा रहने को लेकर क्षतिग्रस्त हो गया है, लेकिन अभी तक प्रशासन का ध्यान इस ओर नहीं गया है. वहीं उन्होंने बाढ़ प्रभावित घोषित नहीं होने पर सीओ पर सौतेलापन रुख अपनाने का आरोप भी लगाया है. इधर आक्रोश जता रहे शिव कुमार शर्मा, किशन यादव, मोती लाल यादव, चंदेश्वर साहनी, अशोक यादव, ललित यादव ,नारायण यादव, पप्पू यादव देव लाल यादव एंव संजीव यादव का कहना है कि वार्ड 6,7,एंव 8 के महेशपट्टी, नरेला फकीराना एवं चिरमारा को ही बाढ़ प्रभावित किए जाने की जानकारी मिली है, जिससे साफ जाहिर है कि कर्मचारी द्वारा घर बैठे कागजी खानापूर्ति कर अपनी जिम्मेवारी पूरी कर ली गई हैं.

स्थानीय पूर्व पंचायत समिति सदस्य आशा देवी का कहना है कि जब मैं नीतियों से बात की तो उन्होंने बताया कि पंचायत में अनुश्रवण की बैठक कर सूची कार्यालय में जमा करें, उनका कहना है कि इसी बीच सीओ द्वारा उक्त तीनों वार्ड के वार्ड सदस्यों को बुलाकर सूची पर हस्ताक्षर करा लिया गया, जो खेद का विषय है. यदि हमारा पंचायत बाढ़ प्रभावित घोषित नहीं किया गया तो विरोध में आंदोलन शुरू किया जाएगा. इसके तहत पीड़ित परिवार के साथ मिलकर  एनएच-57 को अनिश्चितकाल तक के लिए जाम कर दिया जायेगा, फिर भी बात नहीं बनी तो जेल भरो अभियान शुरू किया जाएगा.

Find Us on Facebook

Trending News