अल्पसंख्यक कल्याण समिति के सभापति द्वारा अख्तरूल ईमान की शिकायत पर भड़के विस अध्यक्ष, जांच के बाद कार्रवाई का दिया आश्वासन

अल्पसंख्यक कल्याण समिति के सभापति द्वारा अख्तरूल ईमान की शिकायत पर भड़के विस अध्यक्ष, जांच के बाद कार्रवाई का दिया आश्वासन

PATNA : विधानसभा की सत्रावधि के बाद सरकार की नीतियों के सफल और सुचारू संचालन एवं अनुश्रवण  तथा योजनाओं के ससमय गुणवत्तापूर्ण क्रियान्वयन और निष्पादन में विधानसभा की समितियों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण हो जाती है और ये विधानसभा को जनोन्मुखी तथा लोकहितवादी भी बनाती हैं। इन समितियों के उद्देश्य बड़े व्यापक होते हैं। इनके उद्देश्य में जो बाधक बनने और व्यवधान डालने का काम करेंगे और इसके माध्यम से किसी प्रकार के भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम करेंगे। उनके खिलाफ कठोर से कठोर  कार्रवाई की जाएगी। लोक निधि की लूट की छूट किसी को नहीं दी जा सकती है तथा स्थापित संसदीय परंपराओं  और नियमों की अवहेलना कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। ऐसे लोग तत्काल प्रभाव से समिति से तो हटाए ही जाएंगे तथा उन पर आचार समिति के माध्यम से गंभीरता के साथ कार्रवाई करने पर भी विचार किया जाएगा। यदि ऐसे कृत्य में समिति के सहयोगार्थ गए सभा सचिवालय के कोई भी कर्मचारी और पदाधिकारी की संलिप्तता पाई जाएगी तो उन पर भी कठोर कार्रवाई होगी।" यह बातें बिहार विधानसभा के अध्यक्ष के विजय कुमार सिन्हा ने आज विधानसभा में अपने कार्यालय कक्ष में कही। 


ज्ञातव्य हो कि बिहार विधानसभा के अल्पसंख्यक कल्याण समिति के सभापति आफाक आलम ने दूरभाष पर शिकायत की थी कि बिहार विधानसभा में एआईएमआईएम पार्टी से निर्वाचित सदस्य और इस समिति के सदस्य अख्तरूल ईमान ने कमेटी की बैठकों  में अपनी पार्टी का एजेंडा और पार्टी के लोगों को बुलाकर बैठक को प्रभावित करने की कोशिश की है। जिसके कारण उनकी बैठक नहीं हो पा रही है और कमेटी अपने संसदीय दायित्व के निर्वहन करने में असहजता महसूस कर रही है। 

ज्ञातव्य हो कि यह कमेटी राज्य के अंदर 25 जुलाई से 4 अगस्त, 2022 तक राज्य के अंदर स्थल अध्ययन यात्रा पर गई थी। इस समिति की यात्रा अभी हाजीपुर, मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर में ही हो पाई थी। कार्यक्रमानुसार इस समिति को अभी दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया और कटिहार की यात्रा अभी करनी थी। 

इस बीच इस असुविधा और असहजता के कारण कमेटी की यात्रा समस्तीपुर के बाद समिति के द्वारा स्थगित कर दी गई। विधानसभा अध्यक्ष सिन्हा से आज उनके कार्यालय कक्ष में मिलकर अल्प संख्यक कल्याण समिति के सभापति आफाक आलम ने इस संबंध में लिखित शिकायत की। जिस पर वि स अध्यक्ष सिन्हा ने आफाक आलम को जांचोपरांत शीघ्र नियमानुसार समुचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

Find Us on Facebook

Trending News