BIHAR NEWS : नेपाल में हुई बारिश से गंडक नदी में बढ़ा जलस्तर, विधायक सहित कई अधिकारियों ने इलाके का किया निरीक्षण

BIHAR NEWS : नेपाल में हुई बारिश से गंडक नदी में बढ़ा जलस्तर, विधायक सहित कई अधिकारियों ने इलाके का किया निरीक्षण

MOTIHARI : नेपाल के जलग्रहण क्षेत्र में मुसलाधार हुई बारिश से पूर्वी चम्पारण जिला से होकर बहने वाली तमाम नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है। गंडक नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है। जबकि सिकरहना, लालबकेया नदियां अभी खतरे के निशान से नीचे हैं। वाल्मीकिनगर गंडक बराज से छोड़े गये पानी से गंडक का जलस्तर खतरे के निशान के उपर है। गंडक नदी के दियारा इलाके में बसेअरेराज और संग्रामपुर प्रखंड के कई गांव के खेतों में पानी पहूंचने लगा है तो रास्ते पानी में डूब गए हैं। वही अरेराज प्रखंड के एक गांव में पानी प्रवेश कर गया है तो संग्रामपुर क्षेत्र के कई गांव में पानी प्रवेश कर रहा है। 

लोग जान जोखिम में डालकर घर से जरुरी समानों को निकालने के लिए आवाजाही में लगे है। कुछ जगहों पर आने-जाने का साधन केवल नाव है। जबकि केसरिया प्रखंड के कई गांवों में भी बाढ़ का खतरा बना हुआ है। जल स्तर  बढ़ने की सूचना पर अरेराज अनुमंडल से लेकर अंचल प्रशासन अलर्ट मोड में है। वही शनिवर को गोबिंदगंज विधायक सुनील मणि तिवारी,एसडीओ संजीव कुमार,डीसीएलआर लखिन्द्र पासवान,डीएसपी रंजन कुमार ,सीओ पवन झा, बीडीओ अमित कुमार पण्डेय द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्र व तटबंध का निरीक्षण किया गया। विधायक ने अधिकारियों को कई अवश्यक निर्देश दिया।

बताया जा रहा है की शुक्रवार को वाल्मीकिनगर गंडक बराज से 4 लाख 32 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर है और गंडक नदी के आस-पास के गांव के लोगों के लिए एडवाइजरी भी जारी की गई है। क्योंकि गंडक बराज से छोड़ा गया पानी, शनिवार सुबह जिला क्षेत्र में आना शुरु हो गया है। जिला से होकर बहने वाली गंडक नदी का जलस्तर डुमरियाघाट में 62.58 मीटर है। जो 0.56 मीटर उपर है। 

जबकि चटिया में गंडक का जलस्तर 66.83 मीटर है जो खतरे के निशान से 2.317 मीटर नीचे है। वहीं, लालबकेया नदी का जलस्तर गुआबारी में 69.60 मीटर है जो खतरे के निशान से 1.52 मीटर नीचे है। गंडक नदी का जल स्तर बढ़ने से संग्रामपुर प्रखंड के ईजरा,  बीनटोली, ,पुछरिया, भवानीपुर, मल्लाही टोला आदि गावों के खेतों और सडकों सहित गांव में भी पानी फैल गया है। जबकि अरेराज प्रखंड के नवादा के एक वार्ड में पानी प्रवेश कर गया है।जबकि कई गांव के आसपास  बाढ  पानी से घीरे हुए है। डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने गंडक, सिकरहना, बूढ़ी गंडक, सिकरहना नदियों के तटबंध की लगातार निगरानी का निर्देश सिंचाई विभाग के अधिकारियों को दिया है।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News