जब बिहार के डीजीपी भूल गए जिलाधिकारी का नाम, स्वागत में खड़े डीएम रह गए हक्काबक्का

जब बिहार के डीजीपी भूल गए जिलाधिकारी का नाम, स्वागत में खड़े डीएम रह गए हक्काबक्का

पटना. बिहार के डीजीपी संजीव कुमार सिंघल शुक्रवार को समस्तीपुर पहुंचे. समस्तीपुर पहुंचने पर उनके स्वागत में जिले के वरीय पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे. लेकिन इस दौरान कुछ ऐसा हुआ कि डीजीपी एसके सिंघल जिले के जिलाधिकारी का नाम ही भूल गए. कार से उतरने के बाद एसपी सिंघल जब अधिकरियों से मुखातिब हुए वे सबसे पहले समस्तीपुर के जिलाधिकारी की ओर बढ़े.

हालांकि वहां रुकते ही सिंघल जिलाधिकारी का नाम ही भूल गए. उन्होंने कहा, आप ? इस पर वहां मौजूद एक वरीय पुलिस अधिकारी ने कहा कि ये डीएम साहब हैं. इस पर डीजीपी ने कहा, आपका नाम? बगल में मौजूद पुलिस अधिकारी ने फिर कहा, डीएम साहब योगेन्द्र सिंह हैं. 

जिलाधिकारी का नाम भूल गए डीजीपी ने फिर से डीएम योगेन्द्र सिंह से शिष्टाचार अभिवादन किया. दरअसल, जिले में विधि व्यवस्था का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को डीजीपी सिंघल समस्तीपुर पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने कई संदेश दिए. इसमें स्वागत में फूल और गुलदस्ता भेंट करने की परम्परा को भी उन्होंने बर्बादी बताई. कार से उतरने के साथ ही उन्होंने स्वागत में गुलदस्ता लेकर खड़े लोगों को कहा कि इसकी जगह किताब लेकर आइये. 

दरअसल, उप मुख्यमंत्रीतेजस्वी यादव ने कुछ दिन पूर्व ही लोगों से अपील की थी कि वे जब भी मिलने आएं तो किताब-कॉपी लेकर आएं न कि फूल और गुलदस्ता. इसके बाद से कई लोग और राजनीतिक हस्तियाँ किताब लेकर तेजस्वी से मिलते दिखे. अब तेजस्वी के नक्शेकदम पर चलते हुए डीजीपी एसपी सिंघल भी फूल-गुलदस्ता की जगह किताब देने की बात करते दिखे. 


Find Us on Facebook

Trending News