पांच राज्यों में किसकी बनेगी सरकार, आज होगा फैसला, बंगाल पर रहेगी देश की नजर

पांच राज्यों में किसकी बनेगी सरकार, आज होगा फैसला, बंगाल पर रहेगी देश की नजर

PATNA : पांच राज्यों में 62 दिनों तक चले चुनावी प्रक्रिया के बाद आज वोटों की गिनती की जाएगी। कोरोना गाइडलाइन के सख्त पहरे के बीच प.बंगाल, असम, तमिलनाडू, केरल और पुडेचेरी विधानसभा में किसकी सरकार बनेगी, इसका फैसला होगा। इन पांच राज्यों में कांटे की टक्कर होने की संभावना है, लेकिन जिस राज्य पर पूरे देश की निगाहें होगी, वह ममता बनर्जी की पश्चिम बंगाल है। जिस तरह से भाजपा ने यहां अपनी सरकार बनाने के लिए पूरी ताकत झौंक दी, उसके बाद यहां तृणमूल कांग्रेस को लेफ्ट और कांग्रेस से नहीं, बल्कि भाजपा से सीधी टक्कर मिली। ज्यादातर एग्जिट पोल्स में भी यही अनुमान जताया गया है कि भाजपा इस बार ममता को बराबरी पर रोक सकती है। थोड़ी देर में इन पांचों राज्यों में वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी

बंगाल

  • कुल सीटें:294 (वोटिंग 292 सीटों पर हुई)
  • बहुमत:148 (292 सीटों के लिहाज से 147)
  • पिछली बार कौन जीता:तृणमूल कांग्रेस

29 अप्रैल को आए एग्जिट पोल्स में बंगाल को लेकर एक राय नहीं दिखी। 9 एग्जिट पोल्स में से 5 में ममता बनर्जी की तृणमूल को बहुमत हासिल होता दिख रहा है, या फिर वो बहुमत के काफी करीब हैं। वहीं 3 पोल्स में भाजपा आगे दिख रही है। जब 2019 के लोकसभा चुनाव हुए थे, तब भाजपा ने बंगाल की 128 विधानसभा सीटों पर बढ़त हासिल की थी, जबकि तृणमूल की बढ़त घटकर सिर्फ 158 सीटों पर रह गई थी। 

असम

  • कुल सीटें: 126
  • बहुमत:64
  • पिछली बार कौन जीता:भाजपा+

पिछली बार असम में NDA को पहली बार सत्ता हासिल हुई थी, लेकिन 12 सीटें जीतकर भाजपा को सत्ता दिलाने में मदद करने वाले बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट ने इस बार कांग्रेस और लेफ्ट से हाथ मिलाया। भाजपा के साथ असम गण परिषद बना हुआ है। भाजपा ने UPLL के साथ भी गठबंधन किया। यहां NRC यानी नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स का मुद्दा हावी रहा है। भाजपा जीती तो सीएम सर्बानंद सोनोवाल दोबारा सीएम बनेंगे। 

तमिलनाडु

  • कुल सीटें: 234
  • बहुमत: 118
  • पिछली बार कौन जीता:अन्नाद्रमुक

यहां पहली बार जयललिता और करुणानिधि के बगैर विधानसभा चुनाव हुए। जयललिता की गैरमौजूदगी में अन्नाद्रमुक के पास सिर्फ सीएम पलानीस्वामी के तौर पर एक चेहरा था। वहीं, द्रमुक का चेहरा करुणानिधि के बेटे स्टालिन हैं। इसी वजह से सभी एग्जिट पोल्स में इस बार द्रमुक की जीत का अनुमान जताया गया था। 

केरल

  • कुल सीटें: 140
  • बहुमत: 71
  • पिछली बार कौन जीता: LDF

दिलचस्प यह है कि बंगाल में कांग्रेस और लेफ्ट मिलकर चुनाव लड़ते हैं, जबकि केरल में वे एक-दूसरे के विरोध में रहते हैं। पिछली बार यहां लेफ्ट की अगुआई वाला LDF जीता था। कांग्रेस इसका हिस्सा नहीं है। कांग्रेस की अगुआई वाला UDF यहां विपक्षी गठबंधन है। भाजपा ने इस बार 140 में से 113 सीटों पर उम्मीदवार उतारे। पिछले चुनाव में एक सीट जीतनेवाली भाजपा ने यहां से मेट्रो मैन के श्रीधरन को अपना सीएम कैंडीडेट बनाया है. जिसका कुछ फायदा पार्टी को मिल सकता है

पुडुचेरी

  • कुल सीटें: 30
  • बहुमत:16
  • पिछली बार कौन जीता:कांग्रेस+द्रमुक

पुडुचेरी विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश है। यहां बीते फरवरी में कांग्रेस की अगुआई वाली सरकार गिर गई थी। वी. नारायणसामी बहुमत साबित नहीं कर सके थे। दो मंत्रियों के भाजपा में शामिल होने और कुछ विधायकों के इस्तीफे के बाद सत्ता उनके हाथ से फिसल गई थी। 


Find Us on Facebook

Trending News