यहां औरतें लगाती है मर्दों के जिस्म की बोली...

यहां औरतें लगाती है मर्दों के जिस्म की बोली...

डेस्क...दुनिया तेज़ी से आगे बढ़ रही है हर वो काम जो मर्द करते है वो अब महिला भी करने लगी है भारत के मशहूर रेड लाइट एरिया के बारे में तो आप जानते ही होंगे. इन बदनाम इलाकों में लड़कियों की बोली खुलेआम लगती है और खुलेआम जिस्मफरोशी का धंधा चलता है, लेकिन कभी आपने मर्दों की सेक्स मंडी के बारे में सुना है. मर्दों की एक मंडी देश की राजधानी में सजती हैं, जहां महिलाएं इन मर्दों को मुंहमांगी कीमत देकर खरीदती हैं. 

महिला ग्राहक यहां आती हैं और अपनी पसंद के लड़के को चुनकर उसकी कीमत देती हैं, और फिर राजधानी दिल्ली के कई पॉश इलाकों में मर्दों की ऐसी मंडियां सजती हैं, जहां लड़कों की बोली लगाई जाती है. इन मंडियों को जिगोलो मार्केट के नाम से जाना जाता है और पैसों के लिए अपना जिस्म बेचने वाले इन मर्दों को जिगोलो यानी मेल एस्कॉट या फिर कॉल ब्‍वॉयज कहा जाता है. राजधानी की सड़कें जब सुनसान होती हैं, तब इन पॉश मानी जाने वाले मार्केटों में मर्दों का बाजार सजता है. खास बात ये है कि युवा जिस्म की खरीददार उन घरानों या इलाकों की महिलाएं होती हैं जिन्हें आम बोलचाल में संभ्रांत कहा जाता है और इनके इलाकों को पॉश. युवाओं के जिस्‍म के सौदेबाजी का काम कॉरपोरेट तरीके से होता है. यही वजह है कि कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा इन्हें अपनी संस्था को देना होता है, जिनसे ये जुड़े हुए हैं.

कारोबार को दिल्ली के कई युवा अपना प्रोफेशन बना चुके हैं तो कई अपनी लक्जरी जरूरतों की पूर्ति के लिए इस दलदल में फंस रहे हैं. आंकड़ों की माने तो इनमें इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करने वाले छात्र सबसे ज्यादा हैं. जिगोलो यानी बिकने वाले मर्द बस सड़कों पर घूमते हैं और ग्राहक के आने पर डील पक्‍की होते ही उनके साथ चले जाते हैं. ऐसा कहा जाता है कि एक रात के लिए ग्राहक का इन मर्दों पर पूरा अधिकार होता है. वैसे खुले तौर पर किसी भी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी ने मर्दों की मंडी पर कोई बयान नहीं दिया है, लेकिन ये धंधा इंटरनेट के जरिए जोर-शोर से चलता है. जिगोलो को बुक करने का काम हाईफाई क्‍लब, पब और कॉफी हाउस में भी होता है. कुछ घंटों के लिए जिगोलो की बुकिंग हजारों में होती है. युवा जिस्म का यह बाजार रात 11 बजे से सुबह 4 बजे के बीच सजता है. कुछ खास पब और बार के अलावा कुछ निश्चित प्वाइंट्स पर गाड़ियां रुकती हैं, जिगोलो बैठते हैं और सौदा तय होते ही गाड़ी चल देती है. जिगोलो की डिमांड उसके गले में बंधे पट्टे पर निर्भर करती है. जिगोलो के गले में बंधा पट्टा उसके खास ऑरगन की खूबी दिखाता है. कुछ घंटों के लिए जिगोलो की बुकिंग 1800 से 3000 हजार रुपए और पूरी रात के लिए 8000 रुपये तक में होती है. इसके अलावा युवाओं के गठीले और सिक्स पैक ऐब्स के हिसाब से 15 से 30 हज़ार तक दिया जाता है. यहां सभ्य परिवार की महिलाएं आकर मर्दों की बोली लगाती हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News