जानें क्या होते हैं मौसम के रेड, ऑरेंज और येलो अलर्ट

जानें क्या होते हैं मौसम के रेड, ऑरेंज और येलो अलर्ट

डेस्क ... जैसे रेड अलर्ट, येलो अलर्ट या फिर ऑरेन्ज अलर्ट। मौसम विभाग के अनुसार अलर्ट्स के लिए रंगों का चुनाव कई एजेंसियों के साथ मिलकर किया गया है। खासकर भीषण गर्मी, सर्द लहर, मानसून या चक्रवाती तूफान आदि के बारे में जानकारी देने के लिए इन कलर अलर्ट का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे-जैसे मौसम अपने चरम की ओर बढ़ता है, वैसे-वैसे अलर्ट गहरा लाल होता चला जाता है। इसी तरह किसी चक्रवाती तूफान की भीषणता भी इन्ही कलर कोड से होती है। जितना भीषण चक्रवात उतना ही ज्यादा लाल अलर्ट होता जाता है।

ग्रीन -कोई खतरा नहीं

येलो अलर्ट -खतरे के प्रति सचेत रहें। मौसम विभाग के निदेशक चरण सिंह ने बताया कि येलो अलर्ट के तहत लोगों को सचेत रहने के लिए अलर्ट किया जाता है। उन्होंने बताया कि यह अलर्ट जस्ट वॉच का सिग्नल है।


ऑरेंज अलर्ट -खतरा, तैयार रहें। मौसम विभाग के निदेशक चरण सिंह के अनुसार जैसे-जैसे मौसम और खराब होता है तो येलो अलर्ट को अपडेट करके ऑरेंज कर दिया जाता है। इसमें लोगों को इधर-उधर जाने के प्रति सावधानी बरतने को कहा जाता है।

रेड अलर्ट -खतरनाक स्थिति। चरण सिंह ने बताया कि जब मौसम खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है और भारी नुकसान होने की आशंका होती है तो रेड अलर्ट जारी किया जाता है।

Find Us on Facebook

Trending News