सुशासन बाबू के राज्य में 12 साल की बच्ची से दुष्कर्म, पुलिस ने बताया सिर्फ छेड़खानी, पीड़िता को थाने से भगाया

सुशासन बाबू के राज्य में 12 साल की बच्ची से दुष्कर्म, पुलिस ने बताया सिर्फ छेड़खानी, पीड़िता को थाने से भगाया

MADHEPURA :  सुशासन बाबू के राज्य में दुष्कर्म का मामला आए दिन थमने का नाम नहीं ले रहा है एक मामल सामने आया है जब 12 साल की मासूम बच्ची को जोर-जबरदस्ती दुष्कर्म करने के फिराक में पटुवा खेत ले जाते हैं, और कुछ दरिन्दों ने दुष्कर्म करते हैं, फिर उसी हालत में लड़की छोड़ कर दरिन्दों फ़रार हो जाते हैं, जब बच्ची को लेकर मां थाने जाते है वर्दी का धोस दिखा कर पुलिस उन मां कड़ी फटकार लगाया जाता है।

 घटना जिले बेलारी ओपी की है, जब दुष्कर्म पीड़िता की मजबूर मां ने बेलारी ओपी प्रभारी से न्याय की गुहार लगाई, पीड़िता के मां ने बेलारी ओपी प्रभारी पर आरोप लगाया कि पुलिस हमे डांट फटकार लगाया दुष्कर्म मामले को जानबूझकर छेड़खानी का मामला कहते हैं। पीड़िता की मां ने बताया कि ओपी अध्यक्ष ने तो पहले डांट कर भगा दिया फिर बाद में दोबारा जाने पर घटना को छेड़खानी बता कर प्राथमिकी दर्ज कर लिया। कथित रूप से दर्ज छेड़खानी मामले की बडी मशक्कत के बाद मेडिकल जांच कराया। पुलिस अपनी नाकामी छुपा रहे हैं, जबकि किशोरी कहते है मेरे साथ दुष्कर्म किया है। 

लीची देने के बहाने खेत में ले गया

पीड़िता किशोरी ने बताया कि, मधेपुरा जिला के कुमारखंड थाना अंतर्गत बेलारी ओपी क्षेत्र के रानीपट्टी गांव वहशी दरिन्दे ने लीची तोड़ देने का प्रलोभन देकर पाटवा खेत में ले जाकर मुंह बंद कर जबरन दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। वहशी दरिंदे ने धमकी भी दी किसी को अगर कुछ बताओगी तो जान से मार देंगे। वहशी दरिंदे के खिलाफ बेलारी ओपी में कांड संख्या 148/2021 प्राथमिकी दर्ज कर लिया है, लेकिन गिरफ्तारी नही हुआ है, बच्ची मां ने न्याय लिए मधैपुरा जिले के कई अलाअधिकारी आवेदन देकर गिरफ्तारी की गुहार लगाई।

अब पुलिस मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार 

मामले में जब बेलारी ओपी प्रभारी से पूछा गाया उन्होंने बताया मामले में कांड संख्या दर्ज कर लिया है, नामजद व्यक्ति की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है, बच्ची का मेडिकल भी करवाया गया है, लेकिन रिपोर्ट नही आई है, बताया कि मुझे नही लग रहा है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ, जब तक मेडिकल रिपोर्ट नही आते हैं तब तक केसे कह सकते है।

अब मधैपुरा पुलिस पर सवाल उठता है कि धटना 3 जून की है, पुलिस अभी तक उन दरिन्दों को गिरफ्तारी क्यो नही कर रही है, बच्ची कह रही है मेरे साथ दुष्कर्म किया लेकिन पुलिस कह रहे हैं मेरे अनुसंधान में बच्ची के साथ दुष्कर्म नही हुआ, उसमें भी बिना मेडिकल रिपोर्ट देखे, ऐसे होनहार पुलिस पर गर्व है, जो अपने नजर से देखकर बता देते है दुष्कर्म हुआ है या नहीं, जिसको लेकर बेलारी पुलिस के कार्यशैली पर सवाल उठता है कि, अब देखना तो दिलचस्प होगा मधैपुरा पुलिस उन दरिन्दों जो नवालिक बच्ची को अपना शिकार बना डालते हैं उन्हे कब तक गिरफ्तार कर पाते है,

 पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News