14 साल की किशोरी ने 37 साल प्रेमी के साथ मिलकर अपने माता-पिता की कर दी बेरहमी से हत्या, घर छोड़कर भागे, लेकिन...

14 साल की किशोरी ने 37 साल प्रेमी के साथ मिलकर अपने माता-पिता की कर दी बेरहमी से हत्या, घर छोड़कर भागे, लेकिन...

JAMSHEDPUR : झारखंड के जमशेदपुर में एक नाबालिग ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर माता-पिता की हत्या कर दी. घटना टेल्को थाना क्षेत्र की है. पुलिस ने मनीफीट मंडल बस्ती निवासी भुपेंद्र प्रसाद (42) और उनकी पत्नी सबिता देवी (34) की हत्या के मामले का खुलासा करते हुए पूरी घटना का जिक्र किया है. पुलिस ने पूरे कांड का खुलासा करते हुए नाबालिग बेटी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक डबल मर्डर की इस घटना को 15 साल की बेटी ने अपने प्रेमी बिरसानगर लालटाड़ डुंगरी टोला निवासी 37 वर्षीय युवक सलित कुमार के साथ मिलकर अंजाम दिया था.

दोनों ने मिलकर मां-बाप की हत्या कर दी. जमशेदपुर के एसएसपी प्रभात कुमार ने डबल मर्डर की घटना का खुलासा करते हुए कहा कि मृतक की बेटी का किसी प्रेमी में प्रेम संबंध था. घटना की रात ही दोनों यानी प्रेमी-प्रेमिका एक साथ भागने वाले थे और भागकर शादी करने वाले थे. इसी क्रम में आरोपी सलित कुमार घटना की रात में अपनी प्रेमिका के घर मनीफीट मंडल बस्ती आया और नाबालिग को लेकर भागने लगे. इसी दौरान लड़की के पिता और मां नींद से जाग गये.

क्या है पूरा मामला

बताया जा रहा है कि रविवार की देर रात माता-पिता की हत्या के बाद 14 वर्षीय नीलम कुमारी उर्फ खुशबू एक सुसाइडल नोट लिखने के बाद साथी के साथ घर छोड़कर फरार हो गई. सोमवार की सुबह बस्ती के लोगों ने घर का दरवाजा खुला देख अंदर घुसे तो भूपेन्द्र प्रसाद (40 वर्ष) और उनकी पत्नी सविता प्रसाद (36 वर्ष) का शव लहुलुहान हालत में कमरे में पड़ा पाया. वहीं, कमरे के बाहर बरामदा में रखी मोपेड पर खून से सना एक कपड़ा था. जिसके नीचे खून लगा लोहा का हथौड़ा पड़ा था. लोगों को समझने में तनिक भी देरी नहीं लगी की दोनों पति-पत्नी की हत्या कर दी गई है. घर से उनकी इकलौती बेटी नीलम कुमारी उर्फ खूशबू गायब थी. सभी उसे तलाश रहे थे. सूचना मिलते ही टेल्को थाना की पुलिस पहुंची. पुलिस ने कमरे की जांच की तो भूपेन्द्र प्रसाद के शव के सिर कि नीचे रखे तकिया के नीचे एक चिट्ठी लिखा हुआ पाया गया.


चिठ्ठी लिख कर बोली ये बात

चिट्ठी निलम के द्वारा लिखी गई थी. चिट्ठी में लिखा था -(मां को शक था कि पापा का बड़ी मम्मी के साथ गलत संबंध है. इस कारण पापा और मां में झगड़ा होता था. पापा ने मां को मारा तो मैने पापा को मार दिया. अब मैं आत्महत्या करने जा रही हूं. मुझे माफ करना) . हालांकि  चिट्ठी देख सभी हैरान हो गये. खूशबू की फूफेरी बहन अंशुखा ने बताया कि खूशबू ठीक से हिंदी नहीं लिख पाती थी. अक्सर लिखने में वह गलती करती थी. लेकिन चिट्ठी में साफ साफ शब्दों में लिखा गया है. संभवत:किसी दूसरे व्यक्ति ने खूशबू के नाम से चिट्ठी लिखकर छोड़ दिया है, जिसके बाद पुलिस को पूरे मामले पर शक हुआ।

पति-पत्नी के सिर पर किया गया जोरदार प्रहार

मनीफीट मंडल बस्ती निवासी भूपेंद्र प्रसाद और उनकी पत्नी सविता प्रसाद पर रविवार की देर रात लोहे की हथौड़ी व अन्य हथियार से सिर पर जोरदार प्रहार किया गया. जिससे दोनों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई. प्रहार इतना जोरदा्र था कि दोनों के सिर में छेद हो गये. वही, चोट लगने के बाद दोनों जमीन पर गिर गये. शव देख यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि भूपेंद्र प्रसाद पर हमला के बाद जब सविता ने भागने का प्रयास किया तो उसे भी पीछे से सिर पर हथौड़ा से जोरदार हमला किया गया.

मृतक के घर पर किराए के मकान में रहता था प्रेमी सलित
जानकारी देते हुए एसएसपी प्रभात कुमार ने बताया कि आरोपी सलित पूर्व में भुपेंद्र के मकान पर किराए में रहता था. इसी बीच उसकी पहचान भुपेंद्र के बेटी से हुई थी. जनवरी माह से सलित बिरसानगर ओमनगर में रह रहा था. इसके बाद से दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ने लग गया. घटना की रात दोनों घर से भागने वाले थे. देर रात एक बजे वह भुपेंद्र के घर पहुंचा. भुपेंद्र की बेटी भागने को तैयार थी. इसी बीच भुपेंद्र की नींद खुल गई. सलित ने पास रखे कुकर से भुपेंद्र पर वार कर दिया जिसके बाद सविता की भी हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद दोनों वहां से भाग निकले. घटना के बाद मृतक के छोटे भाई जितेंद्र प्रसाद के बयान पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू की. जांच के क्रम में पुलिस ने सलित को गिरफ्तार किया जिसके बाद मामला साफ हो गया.


Find Us on Facebook

Trending News