सऊदी अरब में 10 बिहारी सहित 450 मजदूर नौकरी जाने के बाद बने भिखमंगा, सऊदी प्रशासन ने भेजा डिटेंशन सेंटर

सऊदी अरब में 10 बिहारी सहित 450 मजदूर नौकरी जाने के बाद बने भिखमंगा, सऊदी प्रशासन ने भेजा डिटेंशन सेंटर

N4N DESK  : सऊदी अरब कमाने गए भारतीय मजदूरों के लिए जिंदगी जंग बन गयी है। आज की तारीख में भूख मिटाने के लिये ये लोग भीख मांगने पर विवश हैं। यही भीख मांगना इनलोगों कर लिये आफत बन गया है। कोरोना संकट की वजह से एक तरफ जहां नौकरी चली गई तो दूसरी तरफ भूख मिटाने के लिए जब सड़क पर भीख मांगने उतरे तो सऊदी अरब की सरकार ने उन्हें पकड़कर डिटेंशन सेंटर के हवाले कर दिया अब स्थिति यह है कि न वो तीन में बचे न तेरह में।

कोरोना की वजह से गयी नौकरी अब भूखे मरने को विवश

बता दें की बड़े शौक से सऊदी अरब मजदूरी करने गए 450 भारतीय कामगार बुरी तरह फंस गए हैं एक तरफ जहां कोरोनावायरस की महामारी की वजह से उनकी नौकरी चली गई तो दूसरी तरफ उन्हें अपने पेट की भूख मिटाने के लिए सड़कों पर भीख मांगना पड़ रहा है लेकिन भीख मांगने की मजबूरी भी उनके लिए संकट तब बन गया जब सऊदी अरब सरकार ने उन्हें पकड़कर डिटेंशन सेंटर में भेज दिया

इन भारतीय कामगारों में ज्यादातर बिहार कश्मीर उत्तर प्रदेश तेलंगाना राजस्थान कर्नाटक हरियाणा पंजाब और महाराष्ट्र से हैं नौकरी छीन जाने की वजह से भारतीय कामगार आज की तारीख में भीख मांगने को विवश हैं सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो मैं बता रहे हैं कि उनका अपराध सिर्फ यह है कि उन्होंने भूख मिटाने के लिए भीख मांगी इसके बाद सऊदी अरब प्रशासन ने उनके किराए के कमरे पर जाकर उनकी पहचान मालूम कि और डिटेंशन सेंटर में डाल दिया डिटेंशन सेंटर के कामगारों में बिहार से 10 उत्तर प्रदेश से 39 महाराष्ट्र जम्मू कश्मीर और कर्नाटक से चार चार लोग हैं।

वर्क परमिट हो गया है एक्सपायर

सऊदी गए 450 भारतीय कामगारों की नौकरी कोरोना संक्रमण से चली गई है बताया जा रहा है कि इन लोगों का वर्क परमिट एक्सपायर हो गया है और वे वहां फंस गए हैं।

Find Us on Facebook

Trending News