नवादा में सीओ पर जानलेवा हमला, ड्राइवर की सूझबूझ से बची जान

नवादा में सीओ पर जानलेवा हमला, ड्राइवर की सूझबूझ से बची जान

NAWADA : जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां जिले एक सीओ पर जानलेवा हमला हुआ है। हालांकि ड्राइवर की सूझबूझ के कारण सीओ की जान बच गई है। घटना में सीओ के साथ सीआई घायल है जिनका इलाज स्थानीय पीएचसी में चल रहा है। 

घटना के संबंध में बताया गया है कि जिले के अकबरपुर थाना क्षेत्र के एटमा गांव के समीप शुक्रवार को निजी जमीन पर सड़क निर्माण की जांच करने पहुंचे सीओ पर काशीचुआं गांव के लोगों ने हमला कर दिया। घटना में सीओ ओमप्रकाश भगत और सीआइ शत्रुघ्न रजक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। इस दौरान शरारती तत्वों ने सीओ की सरकारी वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया। हालांकि इस दौरान सीओ के ड्राइवर विनोद प्रसाद ने समझदारी से काम लेते हुए अधिकारियों को बचाकर अकबरपुर पहुंचा। जहां घायल सीओ व सीआइ को इलाज के लिए पीएचसी में दाखिल कराया गया। इस बाबत थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

बताया जाता है कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सिरकठ्ठा से काशीचुआं गांव तक सड़क का निर्माण किया था, लेकिन संवेदक ने प्राक्कलन के अनुसार काम नहीं कराकर काशीचुआं से एटमा तक सड़क बनाना शुरू किया। इस बीच एटमा गांव की सीमा में मिट्टी भराई और मोरंग बिछाने का काम शुरू किया। जिसमें एटमा के ग्रामीण अर्जुन सिंह समेत अन्य लोगों की निजी जमीन पर भी निर्माण कार्य किया जा रहा था। एटमा गांव में श्मशान घाट में भी पीसीसी ढलाई करा दी गई। तब एटमा के ग्रामीणों ने निजी जमीन पर सड़क निर्माण नहीं कराने की मांग को लेकर सीओ व अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण कार्यालय में आवेदन दिया था। बाद में ग्रामीणों ने मगध प्रमंडलीय आयुक्त, डीएम व रजौली एसडीएम के पास भी अपनी शिकायत दर्ज कराई। 

ग्रामीणों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के बाद आयुक्त ने रजौली एसडीएम व संबंधित जेई को सड़क की स्थिति की जांच कराने का निर्देश दिया था। जांच में शिकायत सही पाए जाने पर शुक्रवार की सुबह जेई विनोद कुमार जेसीबी से बनाए गए सड़क को उखाड़ने पहुंचे। जिसका काशीचुआं के ग्रामीणों ने विरोध किया। जिसके बाद वे बैरंग वापस लौट गए और अधिकारियों को इसकी जानकारी दी। 

जेई द्वारा दी गई जानकारी के बाद अंचलाधिकारी ओमप्रकाश भगत, शत्रुघ्न रजक और मुंशी प्रेमन दास मामले की जानकारी लेने वहां पहुंचे। सीओ का वाहन देखकर ग्रामीणों को लगा कि वे पुन: सड़क को उखाड़ने आए हैं। फिर ग्रामीण उग्र हो गए और उनपर हमला कर दिया। तेज धारदार हथियार से भी हमला किया गया। जिसमें सीओ व सीआइ जख्मी हो गए। सरकारी वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। 

सीओ के साथ मारपीट के मामले में 5 नामजद समेत 100 अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। थानाध्यक्ष मोहन कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News