हत्या के आरोपियों के साथ नाश्ता करते दिखे जदयू सांसद और राजद विधायक, तस्वीरें वायरल

  हत्या के आरोपियों के साथ नाश्ता करते दिखे जदयू सांसद और राजद विधायक, तस्वीरें वायरल

AURANGABAD : बिहार में जबसे महागठबंधन की सरकार बनी है, तब से जंगलराज रिटर्न की बात हो रही है। बिहार में लगातार होते अपराधिक घटनाएं और अपराधियों को संरक्षण देने की बात कही जा रही है। औरंगाबाद जिले से एक ऐसी ही तस्वीर सामने आयी है, जहां काराकाट से जदयू के सांसद महाबली सिंह और ओबरा विधायक ऋषि कुमार के साथ उन लोगों के साथ उसी दुकान में साथ बैठकर नाश्ता करते हुए नजर आएं, जहां पिछले साल इसी माह में एक युवक की उस दुकान के मालिकों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। हत्या के आरोपियों से सांसद-विधायकों की तस्वीर सामने आने के बाद अब कई तरह की चर्चा शुरू हो गई है। 

ग़ौरतलब है कि औरंगाबाद जिले के दाउदनगर थाना अंतर्गत जिनोरिया बस स्टैंड में पिछले साल 31 अगस्त को दो पक्षों के बीच विवाद हुआ था। जिस विवाद में  धेवही गांव के तीन लोगों को गोली लगी थी वहीं दूसरे पक्ष सोनी गांव के बाजार करने आये युवक को पीट पीट कर  बेरहमी से  हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप  जिनोरिया बस स्टैंड में इस्थित एक दवा दुकान चलाने वाले दो भाइयों पर लगा था। जिसे पीड़ितों के द्वारा प्राथमिकी में नामजद अभियुक्त भी बनाया गया था। फिलहाल मामला अभी कोर्ट में लंबित है।

पांच दिन पुरानी तस्वीर

हत्या के आरोपी भाइयों संग सांसद विधायक की नाश्ता करते यह तस्वीरें बीते 18 अगस्त की बताई जा रही है। बताया गया कि उस दिन दोनों माननीय यहां एक सड़क का शिलान्यास करने पहुंचे थे। उसी समय दोनों उसी दवा दुकान में रूके हुए थे. जहां पिछले साल युवक की बेरहमी से हत्या हुई थी। हालांकि न्यूज4नेशन फोटो को लेकर किसी प्रकार की पुष्टि नहीं करती है। लेकिन तस्वीर सामने आने के बाद अब अपना बेटा खोनेवाले परिजन सांसद और विधायक के खिलाफ उतर गए है। उनका कहना है कि अभी मामला कोर्ट में है। ऐसे में विधायक और सांसद इस मामले को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। 

सांसद ने विवाद से झाड़ा पल्ला

तस्वीरों को लेकर उठे विवाद के बाद जब सांसद महाबली सिंह से बात की गई तो उनका कहना था कि वह दाउदनगर के जिनोरिया में एक रोड का शिलान्यास करने गए हुये थे जिसके दौरान उपस्थित ग्रामीणों के द्वारा हमे एक मेडिकल दुकान पर बैठाया गया था और जलपान कराया गया था। हम सिर्फ धूप से बचने के लिए वहां बैठे थे। मुझे नहीं पता कि मैं किसके दुकान में बैठा हूं।क्योंकि हम किसी को पहचानते नही थे और बात रही मामले को प्रभावित होने की तो यहाँ नीतीश बाबू  सरकार है यह पर कानून की डंडा किसी जगह बैठन या खड़ा होने से प्रभावित नही होती है।कानून अपना काम करेगी ।

विधायक ने भी यही बात दोहराई

मामले में जब ओबरा विधायक से बात की गई वह भी सांसद की बात को ही दोहराते हुए नजर आए। उनका कहना था कि हमे किसी भी मामले से कोई लेना देना नही है जो तस्वीर वायरल हो रहा है उस दिन हम और सांसद महोदय रोड का शिलान्यास करने गए हुए थे क्योंकि 4 जगहों पर शिलान्यास करना था इसी दौरान एक शिलान्यास जिनोरिया में भी करना था जिसके लिए सांसद महोदय तथा हम जिनोरिया गए हुए थे और उस दिन इतनी कड़ी धूप थी जिसके कारण लोगों ने हमें तथा सांसद महोदय को एक दुकान में बैठा दिया और ग्रामीणों के द्वारा जलपान की व्यवस्था किया गया उन्होंने यह भी बताया कि हमने जिस दुकान में बैठा था हमें यह भी पता नहीं कि यह किस का दुकान है और जो फोटो आप देख रहे हैं हम जब दुकान में बैठे थे तो कुछ लोग हम लोग के पीछे में खड़े थे जिसका तस्वीर लोगों के द्वारा खींच लिया गया होगा लेकिन हमें कोई भी या किसी तरह के मामले से कोई ताल्लुक नहीं है। बात रही आरोपी के साथ तस्वीर का तो हम यह भी तो नहीं जानते हैं कि हमारे क्षेत्र में कौन आदमी किस मामले की आरोपी है जो भी हमारे ऊपर आरोप लगाया जा रहा है यह आरोप बेबुनियाद है इस मामले से हमें कोई लेना देना नहीं है

बहरहाल, अब यह देखना लाजमी होगा कि क्या पीड़िता के द्वारा लगाया गया आरोप स्तय है या फिर कार्यक्रम के दौरान सांसद और बिधायक का अपराधी के साथ वायरल हो रहा तस्वीर एक इतफाक था।

Find Us on Facebook

Trending News