आर्थिक तंगी इतनी की घर का सामान बेचने पर मजबूर हो गये थें शशि कपूर, वाइफ के जाने के बाद ताउम्र डिप्रेशन में रहें

आर्थिक तंगी इतनी की घर का सामान बेचने पर मजबूर हो गये थें शशि कपूर, वाइफ के जाने के बाद ताउम्र डिप्रेशन में रहें

डेस्क...खबर बॉलीवुड की फर्स्ट फैमिली से ताल्लुक रखने वाले शशि कपूर को लेकर है जिनका आज आज बर्थ एनिवर्सरी है। एक्टर ने महज 10 साल की उम्र में आग फिल्म से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट बॉलीवुड डेब्यू किया था। शशि पृथ्वीराज कपूर के तीन बेटों में सबसे छोटे थे। बॉलीवुड डेब्यू के बाद से ही शशि कपूर अपने चॉकलेटी लुक के चलते देश भर को दीवाना बना चुके थे। एक्टर ने अपने फिल्मी करियर में 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है जिनमें आ गले लग जा, दीवार, सत्यम शिवम सुंदरम, कभी-कभी जैसी कई ब्लॉकबस्टर हिट फिल्में भी शामिल हैं। कई हिट फिल्में देने के बावजूद शशि की जिंदगी कई उतार-चढ़ाव से भरी रही थी। उनकी बर्थ एनिवर्सरी के खास मौके पर आइए जानते हैं शशि की जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें- शशि कपूर का असली नाम बलवीर कपूर था। ये नाम उनकी मां को बिल्कुल पसंद नहीं था इसलिए वो अपने बेटे को शशि कहकर बुलाती हैं। आज दुनिया एक्टर को उनके असली नाम से नहीं बल्कि मां के दिए नाम से जानती है। शशि ने आग(1948), आवारा (1951), संग्राम (1950) और दाना पानी (1953) में बाल कलाकार के रूप में काम किया। शशि को साल 1961 की फिल्म धर्मपुत्र से बतौर लीड एक्टर डेब्यू करने का मौका मिला। इसके बाद शशि ने हिट पर हिट फिल्में दीं।

18 साल में जेनिफर से हुआ पहली नजर का प्यार

शशि कपूर एक्टर होने के साथ अपने पिता के थिएटर के मैनेजर भी थे। इसी थिएटर में शशि की मुलाकात जेनिफर केंडल से हुई थी। जेनिफर, जोफरी केंडल की बेटी थीं जिनका शेक्सपियर ग्रुप भी पृथ्वी थिएटर आया हुआ था। थिएटर में एक शो के दौरान पर्दे के पीछे से झांकते हुए शशि की नजर दर्शकों के बीच चौथी लाइन में बैठीं जेनिफर पर पड़ी। शशि उन्हें देखते ही दिल दे बैठे थे। जेनिफर को पसंद करने के बाद शशि ने उनसे बातचीत करने के कोशिश की। शशि पर्दे की ही तरह असल लाइफ में भी बेहद शर्मिले थे। जेनिफर से बात करते हुए शशि इतना झिझक रहे थे कि जेनिफर उन्हें गे समझ बैठीं। फिर धीरे-धीरे दोनों की बातचीत और मुलाकातें बढ़ने लगीं और ये गलतफहमी भी दूर हो गई। जब शशि को प्यार हुआ तो वो महज 18 साल के थे और जेनिफर उनसे 5 साल बड़ी थीं। ये उम्र का फासला भी दोनों का प्यार कम नहीं कर सका और दोनों ने साल 1958 में शादी कर ली। इस समय शशि महज 20 साल के थे और जेनिफर 25 की।

घर चलाने के लिए बेचना पड़ा सामान

एक समय के मशहूर एक्टर शशि कपूर को जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ा। एक समय ऐसा था जब शशि अपने कई प्रोजेक्ट में एक साथ काम करने के चलते 6 अलग-अलग शिफ्ट में काम करते थे। वहीं एक समय ऐसा भी आया जब एक्टर को काम मिलना बंद हो गया। शशि के बेटे कुणाल कपूर ने एक इंटरव्यू में खुलासा करते हुए बताया कि एक समय आर्थिक तंगी से परेशान होकर पिता ने अपनी स्पोर्ट्स कार बेच दी। उनका सहारा बनते हुए मां जेनिफर ने भी अपना कीमती सामान बेचना शुरू कर दिया था।

पत्नी को खोने के बाद डिप्रेशन में थे शशि

शशि कपूर अपनी पत्नी जेनिफर से बेहद प्यार करते थे। अपनी बिजी जिंदगी के बीच शशि लगातार अपने परिवार और पत्नी के लिए समय निकाल लिया करते थे। लेकिन एक्टर के लिए वो समय बेहद मुश्किल था जब उन्हें पता चला कि उनकी वाइफ को कोलोन कैंसर है। ये साल था 1982. इसके महज 2 साल बाद ही जेनिफर कैंसर से जंग हार गईं और उनका निधन हो गया. पत्नी की मौत के बाद शशि पूरी तरह टूट गए थे. अकेले रहते हुए शशि गहरे सदमे और डिप्रेशन में थे जो ताउम्र उनके साथ ही रहा.


Find Us on Facebook

Trending News