मोकामा-गोपालगंज के बाद अब कुढ़नी विधानसभा चुनाव को लेकर BJP ने शुरू की तैयारी, बता दिया कौन होगा पार्टी का चेहरा

मोकामा-गोपालगंज के बाद अब कुढ़नी विधानसभा चुनाव को लेकर BJP ने शुरू की तैयारी, बता दिया कौन होगा पार्टी का चेहरा

PATNA : एक तरफ बीजेपी मोकामा और गोपालगंज विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में अपनी पार्टी की जीत के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है। वहीं दूसरी तरफ हाल में ही खाली हुए मुजफ्फरपुर के कुढ़नी विधानसभा सीट पर होनेवाले उप चुनाव की तरफ भी अपना ध्यान लगा दिया है। यहां पार्टी का चेहरा कौन होगा, इसको लेकर स्थिति भी लगभग साफ कर दी गई है। पूर्व मंत्री रामसूरत राय ने इशारों में अभी से तस्वीरें साफ कर दी है। हालांकि उन्होंने स्पष्ट रूप से नाम तो नहीं लिया। लेकिन, कहा की मोकामा और गोपालगंज में भाजपा भारी मतों से जीतेगी। और इसके बाद कुढ़नी उपचुनाव में भी जीत दर्ज करेगी।

हालांकि, जब उनसे पूछा गया की क्या कुढ़नी में भाजपा का कैंडिडेट तय हो गया है। इसपर उन्होंने कहा की हमारा कैंडिडेट तो वहां पहले से है। समय आने पर बता दिया जायेगा। उनका इशारा पूर्व विधायक केदार गुप्ता की तरफ था। उनकी बातों से स्पष्ट है कि केदार गुप्ता ही भाजपा प्रत्याशी होंगे। उन्हीं के नाम पर मुहर लगेगी। बस इसकी औपचारिक घोषणा होना बाकी है। वे पहले भी कुढ़नी से विधायक रह चुके हैं। पिछली बार के चुनाव में अनिल सहनी के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। वे इनदिनों क्षेत्र में जनसंपर्क अभियान भी चला रहे हैं। बता दें कुछ दिन पहले ही अनिल सहनी की सदस्यता को खत्म कर दिया गया है, जिसके बाद से यह सीट खाली है।

CM को पता है, इसलिए प्रचार में नहीं जा रहे

पूर्व मंत्री रामसूरत राय ने कहा की CM नीतीश को पता चल गया है की भाजपा दोनों सीटों पर जीत रही है। इसलिए वे वहां प्रचार करने नहीं जा रहे हैं। ताकि बाद में उन्हें कहने के लिए रहे कि हम तो गए ही नहीं थे। उन्होंने कहा की बोचहां उपचुनाव में भी जेडीयू ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया था। इस बार भी वे कुछ वैसा ही कर रहे हैं। 

बिहार से बाहर पहचान ही नहीं

पूर्व मंत्री ने भाजपा को बिहार और देश से उखाड़ कर फेंक देने वाले महागठबंधन के नेताओं के बयान पर कहा की बिहार से बाहर इनकी पहचान ही नहीं है। आप कुएं के मेंढक है और समुद्र की बात करते हैं। भाजपा देश ही नहीं विश्व स्तर की पार्टी है। इसे उखाड़ने वाला कोई नहीं है। आगामी सौ वर्षों तक ये पार्टी चलेगी। क्योंकि ये देश हित की बात करता है।

 उन्होंने कहा की CM नीतीश कुमार का टाइम फिक्स है। 2023 तक इनका भतीजा (तेजस्वी यादव) इंतजार करेगा। और 2024 में कुर्सी छीनने का प्रयास करेगा। नहीं तो ये अपने कुर्सी छोड़कर चले जायेंगे।


Find Us on Facebook

Trending News