आतंकी ट्रेनिंग के बाद अब बिहार के जरिए हो रही यूरेनिम की तस्करी, करोड़ों की खेप के साथ पकड़ा तस्करों का गैंग

आतंकी ट्रेनिंग के बाद अब बिहार के जरिए हो रही यूरेनिम की तस्करी, करोड़ों की खेप के साथ पकड़ा तस्करों का गैंग

ARARIA : बिहार में आंतकी ट्रेनिग की जांच चल रही है। NIA, IB, RAW के साथ बिहार की एटीएस की टीम इस ग्रुप के लोगों की तलाश कर रही है। इन सबके बीच अब खबर भारत नेपाल सीमा से सामने आई है। जहां परमाणु बम में इस्तेमाल होनेवाले यूरेनियम के साथ 15 तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही अन्य संदिग्ध सामान भी जब्त हुए हैं. इस खेप को भारत में पहुंचाने के लिए पकड़े गए युवाओं को बड़ी रकम दी जाती है. इस गिरफ्तारी के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियां और एसएसबी के जवान सक्रिय हो गए हैं।

अररिया में की गई है कार्रवाई

उक्त कार्रवाई को लेकर बताया गया कि यूरेनियम तस्कर अररिया जिले के जोगबनी बॉर्डर से भारत में घुसने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन उससे पहले ही अलग अलग होटलों से 2 किलो यूरेनियम के साथ 15 लोगों को नेपाल के विराटनगर से गिरफ्तार किया गया है . जब्त यूरेनियम की कीमत करोड़ों में बताई जा रही है. 

मुताबिक मोरंग के एसपी शांतिराज कोईराला ने इसकी पुष्टि कर दी है. इसी दौरान उन्होंने बताया कि यूरेनियम को काठमांडू के रास्ते भारतीय सीमा में एंट्री कराई जानी थी. लेकिन उससे पहले ही नेपाल पुलिस ने तस्करों को अलग-अलग होटलों से दबोच लिया. इतनी मात्रा में यूरेनियम मिलने से भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हो गईं हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोरंग के एसपी शांतिराज कोईराला ने इसकी पुष्टि कर दी है. इसी दौरान उन्होंने बताया कि यूरेनियम को काठमांडू के रास्ते भारतीय सीमा में एंट्री कराई जानी थी. लेकिन उससे पहले ही नेपाल पुलिस ने तस्करों को अलग-अलग होटलों से दबोच लिया. इतनी मात्रा में यूरेनियम मिलने से भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हो गईं हैं. आरोपी तस्कर इस खेप को कहां डिलिवर करने वाले थे? सुरक्षा एजेंसियां उनसे पूछताछ कर रहीं हैं. जब्त यूरेनियम को जांच के लिए लैब में भेजा गया। साथ ही ये जानने की कोशिश की जा रही है कि इन तस्करों का सिंडिकेट किसके लिए काम कर रहा था और इस खेप को कहां से लेकर आ रहे थे।

परमाणु बम बनाने में होता है यूरेनियम का इस्तेमाल

 अगर यह यूरेनियम गलत हाथों में लग जाए तो इसका इस्तेमाल विस्फोटक बनाने में किया जा सकता है. 1 किलो यूरेनियम से 24 मेगावाट की ऊर्जा उत्पन्न कर सकता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक हिरोशिमा और नागासाकी पर 64 किलो यूरेनियम का विस्फोट (परमाणु बम) किया गया था. ऐसे में 2 किलो यूरेनियम भी तबाही ला सकता है. 

Find Us on Facebook

Trending News