संदिग्ध हालत में युवक की मौत के बाद डेड बॉडी पाने के लिए दो थानों के बीच घूमते रहे परिजन

संदिग्ध हालत में युवक की मौत के बाद डेड बॉडी पाने के लिए दो थानों के बीच घूमते रहे परिजन

पटना... राजधानी के राजा बाजार स्थित एक पैथोलॉजी में काम करने वाले युवक की लाश घंटो अस्पताल में पड़ी रही, लेकिन परिजनों को इसलिए डेड बॉडी नहीं सौंपी जा सकी क्योंकि मामला दो थानों के बीच का था। हालाकि परिजनों के दबाव बनाने पर एयरपोर्ट थाना मामले की जांच में जुट गई है। मिली जानकारी के मुताबिक गेटवेल हॉस्पिटल में राकेश कुमार की मौत हो गई। परिजनों की माने तो उनका कहना है कि उनकी घनिष्ठता गेटवेल हॉस्पिटल के डॉक्टर के साथ काफी नजदीकी थी और वो पिछले दो दिन से अपना बाइक गेटवेल में खड़ा कर के दो दिन से यहीं के डॉकटरों के साथ थे। 

वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि बीती रात को तक़रीबन 12 बजे रात एक डॉक्टर की गाड़ी में गेटवेल हॉस्पिटल पहुंचती है और उसी गाड़ी में राकेश कुमार की लाश होती है। हालाकि सीसी फुटेज के अनुसार और गेटवेल हॉस्पिटल में गाड़ी जाते हुए देखने वालों के अनुसार गाड़ी में डॉक्टर विकास  पाठक थे और उसी गाड़ी में राकेश कुमार की अचेत बॉडी पड़ी थी, जिसे गेटवेल के डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। अब उनकी मौत कैसे हुई यह जांच का विषय है। यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा की राकेश कुमार की मौत कैसे हुई है, लेकिन इस मामले में गेटवेल हॉस्पिटल के दो डॉक्टरों पर संलिप्तता की आशंका जताई जा रही है, क्योंकि राकेश कुमार की लाश को छोड़कर गेटवेल हॉस्पिटल में आनन-फानन में भाग निकले थे। 

अब उनके परिजन और सगे संबधी आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें  शराब पिलाकर राकेश कुमार की हत्या कर दी गई है। परिजनों का आरोप है। आए दिन राकेश कुमार और मनोज कुमार के साथ पैथोलॉजी लैब में काम करते थे। राकेश कुमार उनके संपर्क में होने से आए दिन शराब पीकर पार्टी करते थे, लेकिन रविवार की रात भी शराब पार्टी के दौरान उनकी हत्या कर दी गई। वहीं, राकेश कुमार की डेड बॉडी भी डॉक्टर विकास पाठक के ही गाड़ी से बरामद हुई। 

अब स्थिति ये है कि परिजनों को जानकारी मिलते ही सभी गेटवेल हॉस्पिटल पहुंचे, जहां उन्हें जांच के लिए पुलिस को जानकारी दी। उन्होंने पहले एयरपोर्ट थाने से संपर्क किया, जहां उन्हें बताया जाता है कि वो एरिया शास्त्री नगर थाना अंतर्गत आता है। जब उन्होंने शास्त्री नगर थाने से संपर्क किया तो वहां से भी कुछ वैसा ही बताया जाता है कि ये एरिया हमारे थाना अंतर्गत नही आता है। शव रात भर हॉस्पिटल कैम्पस में ही पड़ी रही कोई नहीं आया। सुबह जब परिजनों ने हंगामा शुरू किया तो मामले की जांच करने पहुंचे। 

सचिवालय डीएसपी प्रभात रंजन ने बताया कि राकेश कुमार उर्फ राजकुमार बताया जा रहा जिन्हें कल रात अचेत अवस्था में लाया गया था। गेटवेल हॉस्पिटल में जहां इमरजेंसी के डॉक्टर ने इन्हें मृत घोषित कर दिया। जानकारी के बाद हम इनके परिजनों के बयान के बाद आगे की कार्यवाही करेंगे। इन्होंने बताया कि ये एरिया एयरपोर्ट थाना अंतर्गत आता है और थाने की पुलिस मौकाए वारदात पर उपस्थित है और हम हर बिंदु से इस घटना की जांच कर रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News