कानपूर में बवाल के बाद एक्शन में पुलिस, सीएम योगी की चेतावनी-बख्शे नहीं जाएंगे उपद्रवी, 35 गिरफ्तार

कानपूर में बवाल के बाद एक्शन में पुलिस, सीएम योगी की चेतावनी-बख्शे नहीं जाएंगे उपद्रवी, 35 गिरफ्तार

DESK. कानपुर में जुमे की नमाज के बाद राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की शहर में मौजूदगी के दौरान शुक्रवार को हुई हिंसा और बवाल के बाद अब पुलिस एक्शन में है. शनिवार को हिंसा प्रभावित क्षेत्र छवनी में तब्दील दिखे. यूपी पुलिस ने शहर में हिंसा फ़ैलाने के आरोप में 35 लोगों को गिरफ्तार किया है. हिंसा के मामले में अभी तक पुलिस की ओर से तीन प्राथमिकी दर्ज की गई है. मामले में दो एफआईआर पुलिस की ओर से दर्ज करवाई गई है. हालांकि तीसरी एफआईआर तोड़फोड़ का शिकार एक शख्स द्वारा दर्ज करवाई गई है. वहीं इस मामले में 1000 लोगों को अज्ञात आरोपी बनाया गया है. 

वहीं घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपद्रवियों को सख्त चेतावनी दी है कि कोई भी उपद्रवी बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रदेश में शांति का माहौल बिगाड़ने वालों से सख्ती से निपटा जाए. सीएम योगी ने वहां के पुलिस कमिश्नर को दोषियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने तथा बिना किसी रियायत कठोर कार्रवाई करने का आदेश दिया. उन्होंने कहा कि शांति में खलल पैदा होने पर हर स्तर पर जिम्मेदारी तय की जाएगी.

पुलिस ने साफ किया है कि उपद्रवियों के खिलाफ पूरी सख्ती बरती जा रही है. जो लोग हिंसा में शामिल रहे हैं उनकी संपत्तियों पर बुलडोजर भी चलाने की योजना है. सीएम योगी आदित्यनाथ शुक्रवार रात गोरखपुर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये उत्तर प्रदेश के कानून व्यवस्था की समीक्षा की. उन्होंने विशेष तौर पर कानपुर में हुई घटना की जानकारी ली और पुलिस गश्त बढ़ाने के निर्देश दिए.

पुलिस ने जानकारी दी कि कानपुर हिंसा में 13 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. इसी के साथ दोनों पक्षों के भी 30 लोगों को चोटें आई हैं. कई गाड़ियों में तोड़फोड़ और लूट की घटना को भी इस दौरान अंजाम दिया गया. पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में लूटपाट, मारपीट और बलवा समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है.

क्या है मामला : पैगंबर मोहम्मद साहब पर भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा विवादित टिप्पणी करने का आरोप है. पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित ‘अपमानजनक’ टिप्पणियों के विरोध में शुक्रवार को कानपुर नगर में जुमे की नमाज के बाद दुकानें बंद कराने के प्रयास के दौरान दो समुदायों के लोगों द्वारा एक-दूसरे पर पथराव और बम फेंके जाने के बाद वहां कुछ इलाकों में हिंसा हुई. 


Find Us on Facebook

Trending News