अमित शाह के पूर्णिया दौरे से पहले NIA की छापेमारी से मचा हड़कंप, पीएफआई के 106 सदस्य गिरफ्तार

अमित शाह के पूर्णिया दौरे से पहले NIA की छापेमारी से मचा हड़कंप, पीएफआई के 106 सदस्य गिरफ्तार

पटना. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) देशभर में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी पीएफआई से जुड़े लोगों और उनके ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। ये छापेमारी देश के 11 राज्यों में एनआईए कर रही है। अब तक पीएफआई से जुड़े 106 लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।  इसमें बिहार का पूर्णिया जिला भी शामिल है। बिहार का पीएफआई का पूर्णिया कार्यालय इसका मुख्य केंद्र है। गुरुवार को तड़के 3 बजे से ही यहां छापेमारी चल रही है।

गृहमंत्री अमित शाह के बिहार दौरे के एक दिन पहले हुई इस कार्रवाई से सीमांचल के जिलों में हड़कंप मच गया है। यह पहला मौका है जब इतने बड़े पैमाने पर छापेमारी हुई है। खासकर अमित शाह के पूर्णिया दौरे के एक दिन पहले हुई इस छापेमारी ने अब लोगों को आशंकित कर दिया है कि आखिर किस बड़ी घटना को अंजाम देने की फ़िराक में पीएफआई थी। हालांकि इसे लेकर एनआईए द्वारा कोई बयान जारी नहीं किया गया है. छापेमारी में क्या मिला है इसकी अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है. 

11 राज्यों में एनआईए, ईडी और राज्य पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा मारे गए छापे में अब तक कुल 106 पीएफआई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें आंध्र प्रदेश (5), असम (9), दिल्ली (3), कर्नाटक (20), केरल (22), एमपी (4), महाराष्ट्र (20), पुडुचेरी (3), राजस्थान (2), तमिलनाडु (10) और यूपी (8) पीएफआई सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा कुछ अन्य राज्यों से भी लोगों को हिरासत में लेने की खबर है।

दरअसल, टेरर फंडिंग मामले में एनआईए और ईडी ने देश के 11 राज्यों में छापेमारी की है। केरल के तिरुवनंतपुरम में आधीर रात से पीएफआई ओमा सलाम के घर, मलप्पुरम जिले के अध्यक्ष और पीएफआई के कार्यालयों सहित जिला स्तर के नेताओं के घरों पर छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि दिल्ली के ओखला से पीएफआई के अध्यक्ष परवेज और उसके भाई को भी गिरफ्तार किया जा चुका है। एनआईए द्वारा दर्ज़ एक मामले के सिलसिले में एनआईए ने हैदराबाद के चंद्रयानगुट्टा में पीएफआई मुख्यालय को सील कर दिया। एनआईए, ईडी, पैरामिलिट्री ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर कार्यालय को सील किया है।


Find Us on Facebook

Trending News