कश्मीर को देश से अलग करने की मांग करनेवाले अलगाववादी नेता अली शाह गिलानी का निधन, देशद्रोह सहित टेरर फंडिंग का भी लगा था आरोप

कश्मीर को देश से अलग करने की मांग करनेवाले अलगाववादी नेता अली शाह गिलानी का निधन, देशद्रोह सहित टेरर फंडिंग का भी लगा था आरोप

कश्मीर में शांति बहाल रखने के लिए इंटरनेट सेवा की गई बंद

DESK : कभी कश्मीर को भारत से अलग करने की मांग और कभी भारत के खिलाफ आंतकियों को फंडिग करने के मामले में आरोपों का सामना करनेवाले ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के चेयरमैन सैयद अली शाह गिलानी का बुधवार देर रात निधन हो गया। उन्होंने 91 साल की उम्र में आखिरी सांस ली। PDP नेता महबूबा मुफ्ती ने सोशल मीडिया पर गिलानी के निधन की जानकारी दी। उधर, कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने कहा कि गिलानी के निधन की खबर मिलने पर कश्मीर में कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं। इंटरनेट भी बंद कर दिया गया है।

सोपोर सीट से बार विधायक रहे
 गिलानी कश्मीर में सक्रिय अलगाववादी नेता थे। 29 सितंबर 1929 को सोपोर में जन्मे गिलानी को हुर्रियत कॉन्फ्रेंस का उदारवादी चेहरा माना जाता था। गिलानी ने कॉलेज की पढ़ाई लाहौर से की थी। उस समय लाहौर भारत का हिस्सा था। वे कश्मीर की सोपोर विधानसभा सीट से 3 बार विधायक भी रहे थे।

कश्मीर को भारत से अलग करने के लिए बनाया हुरियत कांन्फ्रेंस
 गिलानी कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते थे और उसे अलग करने की मांग करते थे। उन्होंने 1990 के दशक में आतंकी हिंसा और अलगाववाद की सियासत करने वाले धड़ों को मिलाकर ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस का गठन किया था। इसमें 1987 के चुनाव में नेशनल कॉन्फ्रेंस की खिलाफत करने वाले तमाम गुट शामिल हो गए थे।

टेरर फंडिंग के आरोपदेशद्रोह का केस भी दर्ज
 गिलानी पर पाकिस्तान की फंडिंग के सहारे कश्मीर में अलगाववाद भड़काने के आरोप लगे। उन पर कई केस भी दर्ज हुए, जिसके बाद उनका पासपोर्ट भी रद्द कर दिया गया। NIA और ED ने टेरर फंडिंग के मामले में जांच की थी, जिसमें उनके दामाद समेत कई रिश्तेदारों से पूछताछ हुई थी।

हैदरपुरा में रात 10.35 बजे ली आखिरी सांस
 सीनियर हुर्रियत नेता ने हैदरपुरा स्थित अपने घर पर बुधवार रात 10.35 बजे अंतिम सांस ली। गिलानी का परिवार उन्हें हैदरपुरा में ही सुपुर्द-ए-खाक करना चाहता है। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्हें सोपोर में भी दफनाया जा सकता है। गिलानी के परिवार में दो बेटे और चार बेटियां हैं।

Find Us on Facebook

Trending News