स्वास्थ्य विभाग में फर्जी तरीके से एएनएम की नियुक्ति का किया गया था प्रयास, अब दर्ज हुआ मामला

स्वास्थ्य विभाग में फर्जी तरीके से एएनएम की नियुक्ति का किया गया था प्रयास, अब दर्ज हुआ मामला

PATNA : बिहार में कोरोना काल के दौरान हो रही नई नियुक्तियों के बीच असामाजिक तत्वों द्वारा बार-बार फर्जी बहाली के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने जिलों को 94 एएनएम के फर्जी आवंटन के खिलाफ सचिवालय थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है। यह दूसरा मामला है जब फर्जी बहाली के प्रयासों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। 

मामले में बताया गया कि असामाजिक तत्वों ने स्वास्थ्य निदेशालय की ओर से 3.06.2021 को जारी आदेश से 94 एएनएम की नियमित नियुक्ति का प्रयास किया था। इस नियुक्ति का खंडन स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया गया है और इसे पूरी तरह फर्जी बताया गया है। एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे विभाग के निदेशक डॉ. कौशल कुमार ने पुलिस को बताया कि इसके पहले भी असामाजिक तत्वों द्वारा 27 मई को एएनएम नर्सिंग की फर्जी नियुक्ति के लिए जिला आवंटन आदेश जारी किया गया था. जिसके विरुद्ध एफआइआर दर्ज करने का अनुरोध किया गया था. उन्होंने इस दौरान पुलिस के काम पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि पूर्व में दर्ज मामले में कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण बार बार असामाजिक तत्वों द्वारा इस प्रकार का काम किया जा रहा है. 


 इसके साथ ही निदेशक प्रमुख ने सभी सिविल सर्जनों को असामाजिक तत्वों द्वारा निकाले गये फर्जी नियुक्ति पत्र पर कोई कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया गया है. सचिवालय थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले की जानकारी हुई है, फर्जी नियुक्ति का आदेश जारी करने वाले की जांच की जा रही है.

बता दें कि कोरोना काल में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए सरकार ने सभी जिलों के सीएस को तीन माह के लिए डॉक्टर, एएनएम की अस्थायी नौकरी पर रखने की अनुमति दी थी, लेकिन इसमें कई जिलों से गड़बड़ियां सामने आने लगी।

Find Us on Facebook

Trending News