बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • गया में यज्ञ के बहाने प्रेमिका से मिलने आये प्रेमी को ग्रामीणों ने पकड़ा, कोर्ट में परिजनों की मर्जी से कराई शादी
  • गया में यज्ञ के बहाने प्रेमिका से मिलने आये प्रेमी को ग्रामीणों ने पकड़ा, कोर्ट में परिजनों की

  • सोनपुर से शिक्षा विभाग के अधिकारी के अपहरण के मामले में पुलिस ने पांच अभियुक्तों को किया गिरफ्तार, लूटा गया मोबाइल एवं लैपटॉप किया बरामद
  • सोनपुर से शिक्षा विभाग के अधिकारी के अपहरण के मामले में पुलिस ने पांच अभियुक्तों को किया गिरफ्तार,

  • खगड़िया पुलिस दो लूटकांड के साथ डकैती कांड का किया खुलासा, दो बदमाशों को हथियार के साथ किया गिरफ्तार
  • खगड़िया पुलिस दो लूटकांड के साथ डकैती कांड का किया खुलासा, दो बदमाशों को हथियार के साथ किया

  • बिहार के लाल जफर अली ने किया कमाल,  UibffIndia गेम में एशिया ब्रॉन्ज विनर का जीता खिताब
  • बिहार के लाल जफर अली ने किया कमाल, UibffIndia गेम में एशिया ब्रॉन्ज विनर का जीता खिताब

  • पांच साल में कस्टडी रेप के दर्ज हुए 270 मामले, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा हुआ हिरासत में बलात्कार
  • पांच साल में कस्टडी रेप के दर्ज हुए 270 मामले, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा हुआ हिरासत

  • अभी बच्चा हैं तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष पर डिप्टी सीएम का बड़ा हमला, खिलौनी से खेलने दीजिए
  • अभी बच्चा हैं तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष पर डिप्टी सीएम का बड़ा हमला, खिलौनी से खेलने दीजिए

  • मुंगेर में दो युवकों से इश्क करना महिला को पड़ा महंगा, एक ने की दुसरे प्रेमी की दीवार से गिराकर हत्या, पुलिस ने दो को हिरासत में लिया
  • मुंगेर में दो युवकों से इश्क करना महिला को पड़ा महंगा, एक ने की दुसरे प्रेमी की दीवार

  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए पूरी सूची
  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए

  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप
  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप

  • हाजीपुर में कोचिंग जा रही छात्राओं से मनचलों की सरेराह छेड़खानी ! शोहदों की बाइक दुर्घटनाग्रस्त, पहुंचे अस्पताल
  • हाजीपुर में कोचिंग जा रही छात्राओं से मनचलों की सरेराह छेड़खानी ! शोहदों की बाइक दुर्घटनाग्रस्त, पहुंचे अस्पताल

बेहद खास हैं आनंद मोहन के होनेवाले दामाद राजहंस, जानिए किस जॉब में है और कैसे हुआ रिश्ता

बेहद खास हैं आनंद मोहन के होनेवाले दामाद राजहंस, जानिए किस जॉब में है और कैसे हुआ रिश्ता

PATNA : बीते सात नवंबर को बाहुबली नेता आनंद मोहन की बेटी सुरभि आनंद की सगाई पटना में धूमधाम से हुई। सगाई में बिहार के सीएम और डिप्टी सीएम के साथ राजनीति के दिग्गज धुरंधर शामिल हुए। लेकिन बहुत लोगों को इस बात की जानकारी नहीं मिली की आनंद मोहन के होने वाले दामाद राजहंस सिंह कौन हैं, क्या काम करते हैं और उनका परिवार के साथ आनंद मोहन के परिवार का रिश्ता कैसे जुड़ा।  

जहां सुरभि आनंद भी पेशे से वकील हैं। वहीं राजहंस  सिंह यूपीएससी क्वालीफाई कर चुके हैं। 2019 में इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा क्वालीफाई की। इसमें इन्हें 660वां रैंक हासिल हुआ। फिलहाल, राजहंस सिंह फिलहाल इंडियन रेलवे के IRTS (इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस) में बड़े पद पर कार्यरत हैं। 

पढ़ाई में हमेशा रहे अव्वल, NIT पास किया, टाटा ग्रुप के लिए किया काम

राजहंस कुमार सिंह की 10वीं तक की शिक्षा मुंगेर के सरस्वती शिशु मंदिर से हुई है। मैट्रिक की पढ़ाई पूरी करने के बाद ये आगे की पढ़ाई पूरी करने के लिए पटना आ गए। पटना के बाद ये कुछ दिन के लिए हैदराबाद भी गए। इसके बाद इन्होंने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NIT) दुर्गापुर से बीटेक की डिग्री ली।  बीटेक की डिग्री पूरी करने के बाद उन्होंने टाटा ग्रुप के साथ दो साल की नौकरी भी की है। नौकरी के साथ ही उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी भी की। वे लगातार दो बार इस परीक्षा में फेल होने के बाद हिम्मत नहीं हारे। तीसरे अटेंप्ट में उन्हें कामयाबी मिली। 


पारिवारिक संबंध 

राजहंस का परिवार मूल रूप से बिहार के मुंगेर के रहने वाला है। बताया गया आनंद मोहन और राजहंस सिंह के परिवार की पुरानी पहचान है। आनंद मोहन जब सियासत में शिखर पर थे तब मुंगेर यात्रा के दौरान वे राजहंस के दादा मोहन सिंह से जरूर मिलते थे। इतना ही नहीं आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद भी इस घर में चुड़ा-दही खाने जाया करती थी।

इस तरह तय हुआ रिश्ता

राजहंस के रिश्ते में चचेरे भाई और दोस्त संतोष की इस शादी में सबसे बड़ी भूमिका है। संतोष आनंद मोहन के बेटे चेतन आनंद के भी दोस्त हैं। चेतन आनंद ने जब उनसे बहन की शादी की जिक्र की तब उन्होंने राजहंस सिंह का प्रपोजल दिया। इसके बाद बड़तुहारी(अगुआई) की प्रक्रिया शुरू हुई। हालांकि राजहंस फिलहाल 1-2 साल शादी नहीं करना चाहते थे लेकिन सुरभि की शिक्षा और परिवार के निर्देश के बाद उन्होंने अपना फैसला बदला और शादी के लिए तैयार हो गए।