बिहार सचिवालय सेवा संघ के 9 पदों के लिए चुनाव की घोषणा पर विवाद, महासचिव बोले- जनवरी 2022 तक है कार्यकाल

बिहार सचिवालय सेवा संघ के 9 पदों के लिए चुनाव की घोषणा पर विवाद, महासचिव बोले- जनवरी 2022 तक है कार्यकाल

PATNA: बिहार सचिवालय सेवा संघ के अध्यक्ष ने आम चुनाव की घोषणा की है। चुनाव को लेकर चुनाव समिति का गठन किया गया है, जिसमें निर्वाचन पदाधिकारी तथा पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई है. संघ के अध्यक्ष एवं महासचिव द्वारा कमेटी का गठन किया गया है.मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के हस्ताक्षर से सूचना निर्गत हो गया है।वहीं, संघ के महासचिव ने साफ कहा है कि इस चुनाव से बिहार सचिवालय सेवा संघ का कोई लेना देंना नही है। इस संघ का कार्यकाल जनवरी 2022 में पूरा हो रहा है। इस तरह से संघ में विवाद गहरा गया है। 

संघ में विवाद गहराया

अध्यक्ष की तरफ से जहां चुनाव की घोषणा की गई वहीं महासचिव अशोक कुमार ने चुनाव की घोषणा को गलत करार दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे संघ का कार्यकाल जनवरी 2022 में पूरा हो रहा तो फिर अभी चुनाव कैसे होगा ? जिन लोगों के द्वारा चुनाव की घोषणा की गई है वो गलत है। 

9 पदों के लिए चुनाव

बिहार सचिवालय सेवा संघ के 9 पदों पर चुनाव किया जाना है. जिसमें अध्यक्ष-1पद, उपाध्यक्ष-4 पद, महासचिव एक पद, संयुक्त सचिव के चार पद, कोषाध्यक्ष-1 संगठन सचिव-4, कार्यालय सचिव-1, विधि सचिव-1 और आईटी सचिव के 1 पद पर चुनाव होना है. चुनाव में गुप्त मतदान की प्रक्रिया अपनाई जाएगी. निर्वाचन बैलेट पेपर के माध्यम से होगा.

25 मार्च को कराये जायेंगे चुनाव

नामांकन पत्र के लिए 15 सौ रुपए का शुल्क रखा गया है। नामांकन वही लोग करेंगे जो बिहार सचिवालय सेवा के सदस्य हों और 2 से अधिक बार निर्वाचित नहीं हुए हों. वे कॉपरेटिव बैंकिंग सोसाइटी में पद धारक नहीं हों, उक्त पद धारक अपने पद से त्यागपत्र देने के बाद ही नामांकन के योग्य माने जाएंगे. नामांकन 2 मार्च से 5 मार्च तक होगा और वोटिंग 25 मार्च की सुबह 9:30 बजे से 4:00 बजे तक होगा. मतगणना 25 मार्च को ही कराये जायेंगे। यह चुनाव बिहार सचिवालय सेवा संघ का पहला लोकतांत्रिक चुनाव होगा। इससे संघ के सदस्यों की समस्या को समाधान करने एवं सरकार के समक्ष बिहार सचिवालय सेवा से संबंधित मांगों को रखने में मदद मिलेगी।

Find Us on Facebook

Trending News