सुरक्षा हटाने से नाराज पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने CM नीतीश को लिखी चिट्ठी, कहा- आप सो गए हैं क्या

सुरक्षा हटाने से नाराज पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने CM नीतीश को लिखी चिट्ठी, कहा- आप सो गए हैं क्या

PATNA:  बिहार के पूर्व कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह ने सीएम नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी के जरिए उन्होंने अपनी नाराजगी का इजहार किया है। दरअसल पूर्व मंत्री अपनी विशेष सुरक्षा हटाने से नाराज हो गए हैं।  पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कहा है आप क्या से क्या हो गए हैं। 

उन्होंने मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखा है। उन्होंने यह भी कहा है कि वे सुरक्षा की भीख नहीं मांग रहे हैं। जानकारी दे रहे हैं कि उनकी जान पर खतरे का आकलन करने के बाद भी राज्य सरकार ने जेड और वाई श्रेणी की सुरक्षा का बंदोबस्त किया था। वह 22 अक्टूबर को अस्वस्थ हो गए अस्पताल में थे। इसी बीच 4 नवंबर को सुरक्षा वापस ले ली गई। जेपी और 2005 में सत्ता संघर्ष की याद दिलाते हुए नरेंद्र सिंह ने जेपी आंदोलन और राज्य के विकास में नीतीश कुमार की योगदान की सराहना भी की। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे वह और नीतीश कुमार जेपी से मुलाकात करने मुंबई के जसलोक अस्पताल गए थे। 

उन्होंने जेपी आंदोलन में नीतीश कुमार के योगदान की भी चर्चा की। पूर्व मंत्री ने याद दिलाते हुए लिखा है कि 2005 में लोजपा और निर्दलीय विधायकों की मदद से हमने आपको मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिठाया था। कृषि मंत्री के नाते अपने कार्यों की याद दिलाई।  आप लोगों के आग्रह पर कैबिनेट में शामिल हुआ। कृषि मंत्री के नाते उन्होंने अपने योगदान की भी चर्चा की। 

आज राज्य सरकार कृषि विकास को उपलब्धि के तौर पर स्वीकार कर रही है। पूर्व मंत्री ने कहा कि जान की हिफाजत के लिए उन्हें भगवान और राज्य की जनता पर भरोसा है। इसके लिए सरकार सुरक्षा पर आश्रित नहीं है। सिर्फ आश्चर्य सरकार के उस फैसले पर है जिसके लिए मुख्यमंत्री के आदेश की जरूरत होती है।

हालाकि पूर्व  मंत्री श्री नरेंद्र सिंह की सुरक्षा में लगे सभी गार्ड को हटाने के मामले में जमुई के पुलिस कप्तान प्रमोद कुमार मंडल ने कहा कि उनकी सुरक्षा में लगे सभी सुरक्षाकर्मी पहले की तरह उनके साथ प्रतिनियुक्त है। एसपी ने कहा कि वाई श्रेणी के अनुसार जो भी सुरक्षाकर्मी की आवश्यकता है वह पूर्व से उनके साथ प्रतिनियुक्त किया गया है। जमुई जिला से किसी भी सुरक्षाकर्मी को क्लोज नहीं किया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News