बिहार में बन गया एक और फोरलेन, अब पटना से बक्सर जाना हो जाएगा आसान, 14 नवंबर को नितिन गडकरी करेंगे उद्घाटन

बिहार में बन गया एक और फोरलेन, अब पटना से बक्सर जाना हो जाएगा आसान, 14 नवंबर को नितिन गडकरी करेंगे उद्घाटन

पटना. बिहार की राजधानी पटना से सड़क मार्ग से बक्सर जाने के लिए अब ज्यादा सुगम सफर होगा. पटना- भोजपुर-बक्सर फोरलेन परियोजना का हिस्सा आरा-बक्सर फोरलेन सड़क का उद्घाटन 14 नवंबर को होगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 14 नवंबर को आरा-बक्सर फोरलेन सड़क का उद्घाटन करेंगे. आरा- बक्सर फोरलेन सड़क की लंबाई करीब 92 किमी है. करीब 1500 करोड़ रुपये की लागत वाली पटना- भोजपुर-बक्सर फोरलेन परियोजना के हिस्से के तहत ही आरा-बक्सर फोरलेन सड़क निर्माण हुआ है. हालांकि अभी पटना से आरा तक सड़क का निर्माण अभी पूरा नहीं हुआ है. 

दरअसल पटना-भोजपुर-बक्सर फोरलेन के निर्माण होने से पश्चिम बिहार में यह सबसे लंबी फोरलेन सड़क होगी. साथ ही पटना से उत्तर प्रदेश जाने के लिए भी यह सड़क सबसे मुफीद हो जाएगी. इस सड़क से पूर्वांचल एक्स्प्रेस-वे भी लखनऊ से पटना तक जुड़ जाएगी. अनुमान है कि इस सड़क का निर्माण कार्य 2024 तक पूरा हो जाएगा. इसके पहले पटना से आरा के बीच निर्माणाधीन सड़क को पूरा करने की चुनौती है. इस सड़क को लेकर भी अगले एक साल में निर्माण कार्य पूरा होने की संभावना है. 

वहीं 14 नवंबर को नितिन गडकरी बिहार को बड़ा तोफहा देंगे. वे रोहतास जिले में सोन नदी पर पंडुका पुल और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बक्सर लिंक का भी शिलान्यास भी करेंगे. इन परियोजनाओं की लागत करीब 2300 करोड़ रुपये है. 196 करोड़ रुपये की लागत से सोन नदी पर बनने वाले पंडुका पुल का निर्माण 2024 तक पूरा होने की संभावना है. पुल के बनने से बिहार, झारखंड और मध्यप्रदेश के बीच बेहतर आवागमन हो सकेगा. साथ ही केंद्रीय मंत्री उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में 618 करोड़ रुपये की लागत से 17 किमी लंबाई के ग्रीनफील्ड चार लेन बक्सर लिंक का शिलान्यास करेंगे.

2025 तक 350 किमी फोरलेन का एकल लेंथ : बिहार में मौजूदा समय में कई फोरलेन का निर्माण कार्य जारी है. इसमें बक्सर-आरा फोरलेन निर्माण पूरा हो चुका है. वहीं आरा से पटना के बीच निर्माण कार्य अगले एक साल में पूरा होने की उम्मीद है. वहीं पटना से बख्तियारपुर तक पिछले कई वर्षों से फोरलेन पर गाडियां दौड़ रही हैं. वहीं बख्तियारपुर से मोकामा के बीच फोरलेन निर्माण अंतिम चरण में है. मोकामा से सिमरिया के बीच गंगा नदी पर छहलेन पुल का निर्माण जारी है जबकि सिमरिया से बेगूसराय के रास्ते खगड़िया-कटिहार तक फोरलेन का काम अंतिम चरण में है. ऐसे में उम्मीद है कि वर्ष 2025 तक कटिहार से बेगूसराय-मोकामा- बख्तियारपुर- पटना-आरा- बक्सर तक करीब 350 किलोमीटर फोरलेन सड़क हो जाएगी. 


Find Us on Facebook

Trending News