बिहार का एक और नटवरलाल बिल्डर! करोड़ों की उगाही कर फरार हुआ पति-पत्नी, नेतागिरी में भी आजमा चुका है किस्मत

बिहार का एक और नटवरलाल बिल्डर! करोड़ों की उगाही कर फरार हुआ पति-पत्नी, नेतागिरी में भी आजमा चुका है किस्मत

PATNA: पटना के बिल्डर ग्राहकों को धोखा दे रहे हैं. ग्राहकों को ठगने के लिए पटना के बिल्डर हर हथकंड़ा अपना रहे. हद तो तब हो जाती है जब बिल्डर ग्राहकों से पूरा पैसा लेकर काम अधूरा छोड़ देता है। पटना के एक बिल्डर लक्ष्मणकांत मिश्रा व सविता कुमारी मिश्रा की धोखाधड़ी से परेशान जमीन मालिक समेत 6 ग्राहकों ने 2019 में ही रेरा में केस दर्ज कराया था।बताया जाता है कि बिल्डर पति-पत्नी ग्राहकों को धोखा देकर और अफने हिस्से का फ्लैट बेचकर बिहार से भाग गया है। रेरा ने सुनवाई पूरी कर ली है। 

करोड़ों की उगाही कर हुआ फरार

ग्राहकों का आरोप है कि बिल्डर ने 12 फ्लैट का काम अधूरा छोड़कर भाग गया। इंद्रपुरी के राधिका अपार्टमेंट का निर्माण प्रिंसटॉन स्काई स्क्रैपर्स जिसके निदेशक लक्ष्मणकांत मिश्रा व उनकी पत्नी सविता मिश्रा हैं। रेरा में विनोद कुमार अग्रवाल समेत 6 ग्राहकों ने 2019 में शिकायत दर्ज कराई थी। बिल्डर पर फ्लैट में काम अधूरा छोड़ने, बिजली वायरिंग,ट्रांसफर्मर,लिफ्ट नहीं लगाये जाने की शिकायत की है। इसके साथ ही कई ग्राहकों ने रेरा बेंच के सामने कहा कि ग्राहकों से पैसा लेकर बिल्डर काम अधूरा छोड़ दिया और अब वो बाहर भाग गया है। बिल्डर दूसरे स्टेट में काम कर रहा। इस पर रेरा के मेंबर ने सुनवाई के दौरान बिल्डर के दूसरे राज्य में काम के संबंध में विस्तृत जानकारी देने को कहा था। 

रेरा में चल रही सुनवाई

ग्राहकों की शिकायत पर रेरा ने 2 जुलाई को अंतिम सुनवाई की थी। ग्राहकों को ने बिल्डर के संबंध में पूरी जानकारी रेरा के समक्ष जमा करा दिया है।रेरा में 2019 से ही सुनवाई चल रही है। लेकिन बिल्डर रेरा ने उपस्थित नही हो रहा। रेरा ने सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा है। अब देखना होगा रेरा आगे ऐसे नटवरलाल बिल्डर पर क्या कार्रवाई करती है। 

मधुबनी का रहने वाला है बिल्डर

बता दें, बिल्डर लक्ष्मणकांत मिश्रा व सविता कुमारी मिश्रा पति-पत्नी हैं. यह मधुबनी जिला के हरिपुर डीह टोल का निवासी बताया जाता है। पटना के राधिका अपार्टमेंट के ग्राहकों का पैसा लेकर चंपत हो गया। बताया जाता है कि फ्रॉड बिल्डर लक्ष्मण कांत मिश्रा पटना में कई प्रोजेक्ट को अधूरा छोड़ कर बिहार से जा चुका है। फिलहाल दिल्ली में ठिकाना बना अपना धंधा जारी रखे हुए है। जानकार यह भी बताते हैं कि बिल्डर पर नेतागिरी का भी शौक चढ़ा था। 2014 में वह मधुबनी लोक सभा से बसपा के प्रत्याशी के रूप में चुनाव भी लड़ा था।  मैनपुरा के रहनेवाले रमेश राय की जमीन पर 12 -12 फ्लैट डेवलप करने की सहमति पर पटना के इंद्रपुरी रोड नंबर-13 पर बिल्डर ने अपार्टमेंट बनाया। लेकिन फ्रॉड बिल्डर अपने हिस्से का 12 फ्लैट बेचकर जमीन मालिक को ठेंगा दिखा 2017 में ही भाग गया। बाद में जमीन मालिक और ग्राहकों ने रेरा में केस किया था।




Find Us on Facebook

Trending News