साली की शादी में छुट्टी पर आये आर्मी जवान की सड़क दुर्घटना में हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

साली की शादी में छुट्टी पर आये आर्मी जवान की सड़क दुर्घटना में हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

MOTIHARI : मोतिहारी में आज एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। जहाँ एक अनियंत्रित बस ने बाइक सवार  पिता पुत्र को रौंद दिया। जिससे सैनिक पिता की घटना स्थल पर मौत हो गयी। वहीँ पांच वर्षीय पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया है। जख्मी बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना के विरोध में ग्रामीणों ने मोतिहारी अरेराज मुख्य पथ को गायघाट नहर पुल पर जाम कर दिया। जिसके बाद मौके पर पहुची हरसिद्धि थाना पुलिस व जनप्रतिनिधियों के समझाने पर जाम हटाया जा सका। हालाँकि पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है ओर कार्रवाई में जुट गयी है। घटना हरसिद्धि थाना क्षेत्र के गायघाट पुल के समीप की बताई जा रही है।

घटना के सम्बन्ध में बताया जा रहा है की मृतक दीपक कुमार उर्फ विकास कुमार सेना का जवान था। जो लेह में पदस्थापित था। वह बरमासवा गांव के चंदन सिंह का बड़ा पुत्र था। जवान को रौदने के बाद चालक ने बस लेकर भागने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीणों ने खदेड़ा तो बस चालक गायघाट चौक के समीप बस छोड़कर फरार हो गया। घटना के विरोध में ग्रामीण शव के पास सड़क जाम कर दिए। जिससे करीब डेढ़ घंटे आवागमन बाधित रहा। बताया जा रहा है की सैनिक दीपक घर से अपने पुत्र दिव्यम को बाइक से लेकर गायघाट चौक आया था। जहाँ से घर लौटने के दौरान अरेराज से आ रही एक बस ने रौंद दिया। जिसकी टक्कर की आवाज बहुत दूर तक सुनी गई। वह पंद्रह दिन पूर्व अपनी साली के शादी में शरीक होने छुट्टी पर घर आया था। साली की शादी 27 अप्रैल को अपने ग्रामीण अमन कुमार से कराया था। वह 22 मई को ड्यूटी पर जाने वाला था। थानाध्यक्ष ज्वाला कुमार सिंह, पैक्स अध्यक्ष राजकिशोर सिंह, पूर्व सरपंच विक्रमा चौधरी, मुखिया प्रतिनिधि संतोष सिंह, नारद राय आदि के समझाने पर जाम हटा। थानाध्यक्ष  ने बताया की बस को जप्त कर लिया गया है। सैनिक के शव को पोस्टमार्टम कराकर परिजन को सौप दिया गया। मामले में बस चालक के विरुद्ध एफआईआर दर्ज किया जाएगा।

बस की ठोकर से मृत सैनिक दीपक कुमार के घर बरमासवा में कोहराम मचा हुआ है। उसकी पत्नी प्रीति कुमारी, मां सुभाषणी देवी का रो-रो कर बुरा हाल है। दोनो पति व पुत्र का रट लगाकर मूर्छित हो जा रही है। ग्रामीण महिलाएं दोनो को संभालने में जुटी है। वृद्ध बाबा राजेंद्र राय बदहवास हो गए है। पिता चंदन सिंह ने रोते हुए कहा की मेरे जांबाज सैनिक पुत्र को बस चालक ने हत्या किया है। यह अफसोस है। मेरा पुत्र दुश्मन से लड़ते हुए सीमा पर शहीद हो जाता तो इतना गम नही होता। मेरे पुत्र में देश रक्षा की जुनून सवार था। दीपक अपनी साली की शादी में शरीक होने लेह से छुट्टी पर घर आया था। 27 अप्रैल को साली की शादी उसने अपने ग्रामीण राम राय के पुत्र अमन से कराया। आज वह ससुराल से पत्नी प्रीति व दोनो बच्चे को लेकर घर आया था। एक छोटी बच्ची दिव्या भी है। उसके ग्रामीण नारद राय ने कहा की सैनिक दीपक घर का उगता हुआ चिराग था। जो आज सदा के लिए बुझ गया। गांव में मातमी छाया हुआ है।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News