औरंगाबाद में BDO और मुखिया ने मिलकर कर दिया खेला, बिना सड़क बने ही डकार गए 25 लाख

औरंगाबाद में BDO और मुखिया ने मिलकर कर दिया खेला, बिना सड़क बने ही डकार गए 25 लाख

औरंगाबाद : जिले में एक बार फिर से सरकारी बाबू ने ग्रामसेवक के साथ मिलकर 25 लाख का गबन कर दिया है. औरंगाबाद में बीडीओ और ग्राम सेवक ने सड़क बनाने के नाम पर 25 लाख रुपए डकार लिया है.

गौतलब है कि औरंगाबाद के कुटुम्बा प्रखंड के डुमरा पंचायत के मुखिया, मनोज शर्मा ,पंचायत सेवक प्रदीप कुमार और पूर्व के कुटुम्बा प्रखंड विकाश पदाधिकारी लोकप्रकास सिंह के ने डुमरा गांव के वार्ड नम्बर 5 और 6 में वितीये वर्ष 18 और 19 में पीसीसी रोड बनाने के लिये योजना चैनित किया गया था जिसका बजट 25 लाख रुपये था और 25 लाख रुपये की लागत से गली निर्माण का कार्य करना था. लेकिन हैरानी की बात तो यह है कि स्थल पर एक भी रुपये का काम नहीं किया गया. लेकिन कागजों में ही सड़क का निर्माण करके 25 लाख की राशि का बंदरबांट कर लिया गया.


यही नहीं दस्तावेज पर पूर्व प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा कार्य पूर्ण होने की पुष्टि भी हस्ताक्षर के माध्यम से कर दिया गया और योजना का फाइनल बिल निकासी की अनुमति भी दे दी गई और सभी की मिली भगत से सारे पैसे की निकासी भी कर ली गई.

 यह मामला तब उजागर हुआ जब नय वीडियओ और नय ग्रामसेवक ने कार्यभार संभाला और उसी स्थल पर फिर से दूसरी योजना का शिल्यान्यास करने पहुंचे. जब पूरे मामला का पता चला तो दस्तवेज खंगाले गए तो पता चला कि इस स्थल पर तो पहले ही पीसीसी का कार्य कराया गया है. लेकिन स्थल पर कहीं भी पीसीसी का नमो निशान तक नहीं हैं. इस मामले की जानकारी जब ग्रामीणों को  हुई, तब से ग्रामीण उग्र हो गए और जिला प्रसासन से इस जांच कर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. वही इस कुटुम्बा प्रखंड विकास पदाधिकारी ने भी कहा है कि इस मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

Find Us on Facebook

Trending News