छठव्रती बनकर घर घर पहुंचे शिक्षक, लोगों से बच्चों को स्कूल भेजने की अपील

छठव्रती बनकर घर घर पहुंचे शिक्षक, लोगों से बच्चों को स्कूल भेजने की अपील

SASARAM : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यह दावा करते हैं की अब राज्य में नाम मात्र के बच्चे ही स्कूलों से बाहर रह गए हैं. इसके साथ ही बच्चों को स्कूल तक लाने के लिए कई तरह की योजनाये चलायी जाती है. जिसमें पोशाक योजना, साइकिल योजना, मध्याहन भोजन योजना आदि चलायी जाती है. इसके बावजूद कई बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं. 

इसी कड़ी में आज रोहतास जिला के डेहरी अनुमंडल क्षेत्र के तिलौथू प्रखंड अंतर्गत पतलूका स्थित मध्य विद्यालय के शिक्षकों ने विद्यालय में चल रहे नामांकन हेतु प्रवेशोत्सव को लेकर अनोखे तरह से कार्यक्रम चलाया. जिसके तहत छठ व्रती बनकर गांव गांव के घरों तक शिक्षक शिक्षिकाएं पहुंचे और ग्रामीणों से अपने अपने बच्चों को विद्यालय भेजने का अपील किया. 

इस दौरान परंपरागत वेशभूषा में शिक्षक तथा शिक्षिकाएं छठ व्रत के गीत पर गुनगुनाते हुए ग्रामीणों से अपील करते नजर आएं, जो अद्भुत दृश्य प्रस्तुत कर रहा था. बता दें कि 20 मार्च तक शिक्षा विभाग प्रवेश उत्सव मना रहा है. जिसके तहत विद्यालयों में नामांकन की प्रक्रिया चल रही है. 

सासाराम से राजू की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News