नीतीश के बायपास वाले निर्णय में बड़हिया को नहीं मिली जगह, तीन दिग्गज नेताओं से जुड़ा है यह इलाका

नीतीश के बायपास वाले निर्णय में बड़हिया को नहीं मिली जगह, तीन दिग्गज नेताओं से जुड़ा है यह इलाका

लखीसराय। शहरी यातायात को बेहतर बनाने के लिए नीतीश सरकार ने 37 जिलों में 120 बायपास बनाने की घोषणा की, लेकिन इसमें लखीसराय जिले को अछूता रखा गया। जिले के नगर पंचायत बड़हिया में एक दशक से भी ज्यादा समय से बायपास मार्ग की जरुरत महसूस की जा रही है। लेकिन विभागीय और जनप्रतिनिधियों के उदासीन रवैय्ये के कारण नगर पंचायत को इस बार भी जाम की समस्या से मुक्ति मिलती नहीं दिख रही है। चौंकानेवाली बात यह है कि विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा इसी जिले से आते हैं, लेकिन उन्होंने ने भी इस संबंध में कोई विशेष प्रयास नहीं किया। जबकि स्थानीय सांसद  राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह बिहार के सीएम के नजदीकी माने जाते हैं।

सुबह से शाम तक जाम का नजारा

नगर पंचायत बड़हिया के ह्रदय स्थली को चीरती हुई nh80 गुजरती है जिसके कारण नित्य यहां की जनता और यहां से गुजरने वाले वाहनो  को जाम का सामना करना पड़ता है। दिन भर यहां भारी गाड़ियों का आना जाना लगा रहता है. जिससे हादसे की भी संभावना बनी रहती है। तहदिया से लेकर रामपुर डुमरा तक 8 किलोमीटर का सड़क सिंगल रहने के कारण यह परेशानी होती है।

दस साल से हो रही है मांग

बता दें कि रामपुरा डूमरा से बड़हिया के तहदिया तक बायपास का निर्माण होना है। बड़हिया में एनएच को शहर के बाहर से निकालने की मांग 10 साल से भी ज्यादा समय से की जा रही है, उम्मीद थी कि इस बार नीतीश कुमार की घोषणा के अनुसार शहर में बायपास को मंजूरी मिल जाएगी। कुछ लोगों की जमीन भी इसके लिए अधिग्रहित की जा चुकी है और निर्माण का ब्लू प्रिंट भी तैयार कर लिया गया है। फिर भी यहां बायपास के लिए मंजूरी नहीं मिलने से लोग खुद को उपेक्षित महसूस करने लगे हैं और उनमें आक्रोश देखा जा रहा है।


दिग्गज नेताओं का है संबंध

जदयू संसदीय दल के नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह इस क्षेत्र से तीसरी बार सांसद हैं। जिन्हें नीतीश कुमार का करीबी माना जाता है। वहीं केंद्रीय मंत्री हिंदू हृदय सम्राट गिरिराज सिंह का घर बड़हिया में है, लेकिन इन दिग्गज नेताओं ने भी क्षेत्र की समस्या को दूर करने की कोई कोशिश नहीं की।

कई ट्रेनों का ठहराब भी हो चुका है खत्म

बड़हिया में समस्या सिर्फ बायपास की नहीं है। यहां कई प्रमुख ट्रेनाें के ठहराव को भी खत्म कर दिया गया है, जिसके कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई है। इस समस्या को लेकर विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने रेल मंत्री पियूष गोयल से मुलाकात कर कुछ प्रमुख ट्रेनों के ठहराव की मांग की है, जिस पर रेलमंत्री की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि इस समस्या को दूर किया जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News