ललित नारायण मिश्रा के आवास पर राजकीय सम्मान के साथ मनाया गया बलिदान दिवस, नेताओं ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि

ललित नारायण मिश्रा के आवास पर राजकीय सम्मान के साथ मनाया गया बलिदान दिवस, नेताओं ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि

SUPAUL : भारत सरकार के पूर्व रेल मंत्री ललित नारायण मिश्रा की 47 वीं पुण्यतिथि आज अनके पैतृक आवास बलुवा में राजकीय सम्मान के साथ बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया. हालाँकि ग्रामीणों की माने तो हर वर्ष स्वर्गीय ललित नारायण मिश्रा के बलिदान दिवस पर बड़े- बड़े मंत्री एवं राज्यपाल आते थे. ललित ग्राम के लोगों की समस्या को सुना करते थे, सुनकर उन समस्या को निजात दिलाते थे. लेकिन इस वर्ष के बलिदान दिवस पर सिर्फ सुपौल के जिला पदाधिकारी आये हैं. सम्मान समारोह का कार्यक्रम विधिवत संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया .जिसके बाद अतिथियों ने पूर्व रेल मंत्री ललित नारायण मिश्र के प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. 

इस दोरान जिला प्रशासन की ओर से उनको गार्ड आफॅ ओनर दिया गया .राजकीय सम्मान समारोह में डीडीसी मुकेश कुमार सिन्हा, एसपी मनोज कुमार, त्रिवेणीगंज एसडीएम एस जेड हसन, एसडीएम बीरपुर, त्रिवेणीगंज एसडीपीओ गनपती ठाकुर एसडीपीओ बीरपुर, सभी बीडीओ, सीओ मौजुद थें, इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य लोगों ने भी मौके पर पहुंच कर श्रद्धांजलि अर्पित किया. वही ललित नारायण मिश्र के पोते सुमित कुमार मिश्र ने कहा कि इस बार बिहार  सरकार के मंत्री कार्यक्रम में सम्मिलित नही हुये, जो काफी चिंतनीय है. 

पहले बिहार सरकार के मंत्री एवं राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित कई नेता इस कार्यक्रम शामिल होते थे. लेकिन इस बार सम्मान समारोह में कोई मंत्री या सांसद, विधायक सम्मलित  नहीं हुए. बता दे कि ललित नारायण मिश्रा की पुण्यतिथि बलिदान दिवस के रूप में माना जाता है. ललित नारायण मिश्र की जन्म 2 फरवरी 1922 ई वी को जिले बलुआ बजार में  हुआ था. ललित नारायण मिश्र  भारत सरकार के विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और रेल मंत्री जैसे विभिन्न पदों को सुशोभित कर चुके हैं. 

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News