बांका पुलिस ने की बरामद किया 183 पेटी प्रतिबंधित वायरफ कफ सिरप, एक तस्कर को किया गिरफ्तार

बांका पुलिस ने की बरामद किया 183 पेटी प्रतिबंधित वायरफ कफ सिरप, एक तस्कर को किया गिरफ्तार

BANKA : नशा के सौदागर ने अवैध कमाई के चक्कर में अमरपुर को उडता अमरपुर बनाने की पुरी तैयारी कर लिया था। लेकिन बुधवार की देर रात पुलिस द्वारा शहर के जगतपोखर मोहल्ला के एक घर में छापामारी कर  लगभग 30 लाख रूपया मूल्य का प्रतिबंधित वायरफ कफ सिरफ को जब्त किया है। जिसमें 183 पेटी में लगभग दो हजार प्रतिबंधित वायरफ सिरफ है। हालांकि पुलिस ने मौके से तस्कर मु. डब्लू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बतातें चलें कि जब्त कफ सिरफ वायरफ में कोडिन फास्फेट की मात्रा अधिक है । जिसका खुराक से अधिक सेवन करने से नशा होने लगता है । 

यहीं कारण है नशेड़ी की वायरफ कफ सिरफ पहली पसंद बन गया था । इन नशेड़ी को कफ सिरफ पीने से नशा का आनंद के साथ पुलिस से खतरा नहीं होता था । खासकर शराबबंदी के बाद वायरफ कफ सिरफ की मांग काफी बढ गई थी । जिसे देखते हुए गिरफ्तार तस्कर मु .डब्लू ने बस स्टैंड चौक स्थित अपने दवा दुकान की आड़ में धड़ल्ले से प्रतिबंधित कफ सिरफ का तस्करी कर चोरी-छिपे बिक्री कर रहा था । ऐसा नहीं है कि मु डब्लू द्वारा प्रतिबंधित कफ सिरफ की बिक्री करने को लेकर स्थानीय पदाधिकारी को सूचना नहीं था । लेकिन अबतक मैनेज तंत्र का भेंट चढ़ गया था । 

वहीं सूचना पर ड्रग्स  विभाग एवं उत्पाद विभाग  के टीम ने छापेमारी भी किया था । लेकिन तस्कर के मजबूत  सूचना तंत्र के कारण छापामारी दल को खाली हाथ लौटना पड़ रहा था । बताया जा रहा है कि मु डब्लू कफ सिरफ तस्करी का बडा खिलाड़ी है,  जो भागलपुर, अफरोज,  सुल्तानगंज आदि जगहों पर थोक में डिलेवरी करता था । इसी गोरखधंधा से करोड़ो रूपया अर्जित कर लिया है । चिकित्सक की मानें तो कफ सिरफ मे कोडिन की मात्रा है । जिसके कारण खुराक से अधिक सेवन करने से नशा आ जाता है । कफ सिरफ के ओवरडोज शरीर के लिए काफी नुकसानदेह है । अत्यधिक सेवन से मानसिक रोग, तनाव, लीवर, किडनी आदि की बीमारी होने का खतरा बढ जाता है । 

शिव शंकर, ड्रग्स इंस्पेक्टर बांका ने कहा की जब्त वायरफ सिरफ की बिक्री दवा दुकान में चिकित्सक के पर्ची पर ही बिक्री किया जा सकता है । इसके अलावा दवा दुकानदार ऐसे कफ सिरफ की बिक्री करने के लिए प्रतिदिन रजिस्टर में अंकित करना होता है । साथ ही स्टाक की बिक्री हो जाने पर पुनः अनुमति का बाद ही बिक्री किये जाने का नियम है । लेकिन बिहार में शराबबंदी के बाद ऐसे कफ सिरफ को ड्रग्स विभाग के साथ-साथ  मद्य निषेध विभाग के अधीन भी कर दिया गया है । पुलिस ने बताया कि जब्त कफ सिरफ मामले में केस दर्ज कर गिरफ्तार आरोपित को जेल भेज दिया है ।

बांका से चंद्रशेखर कुमार भगत कि रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News