पीएम मोदी के आगमन से पहले गेरुआ रंग से रंगी गयी मस्जिद, बढ़ते विवाद के बाद फिर सफेद की गयी

पीएम मोदी के आगमन से पहले गेरुआ रंग से रंगी गयी मस्जिद, बढ़ते विवाद के बाद फिर सफेद की गयी

Desk. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे से पहले यहां की एक मस्जिद को गेरुआ रेंग से रंगने का मामला सामने आया है. इसके बाद बढ़ते विवाद के चलते मस्जिद को उजले रंह से रंगा गया है. बता दें कि वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण होने वाला है. इसमें पीएम मोदी भी शामिल होंगे. विश्वनाथ मंदिर जाने वाली सड़क पर स्थित एक मस्जिद को सोमवार की रात गेरुआ रंग से रंग दिया गया. सुबह इसकी जानकारी होते ही मस्जिद प्रबंधन ने आपत्ति जताई और विरोध दर्ज कराया.

पीएम मोदी के आगमन और विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह से पहले किसी विवाद में न पड़ते हुए प्रशासन ने तत्काल मामले को संभाला और आधा दर्जन से ज्यादा मजदूर लगाकर मस्जिद को दोबारा सफेद करा दिया है.  मसाजिद कमेटी का कहना है कि बगैर पूछे मस्जिद का रंग बदलना पूरी तरह से गलत है. लेकर प्रशासन के अधिकारियों से आपत्ति जताई गयी है. मस्जिद के तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर तैरने लगी है. मस्जिद प्रबंधन की आपत्ति और विरोध के बाद प्रशासन ने कोई देरी नहीं की और मस्जिद को दोबारा सफेद करवाना शुरू कर दिया.

वहीं मामले को लेकर श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के अधिकारियों कहना है कि गेरुआ या भगवा रंग से मस्जिद को नहीं रंगा गया है. मैदागिन से गोदौलिया तक जो नॉर्मल कलर सभी मकानों पर किया गया है, वहां भी कर दिया गया है. सड़क के दोनों किनारे पर स्थित बिल्डिंग की खूबसूरती के लिए कलर कराया जा रहा है. वास्तविकता में चुनार का जो रेड स्टोन है उसी के तरह से आकर्षक लुक के लिए कलर कराया जा रहा है. किसी की धार्मिक भावना को आहत करने के लिए कलर नहीं कराया गया है.

Find Us on Facebook

Trending News