गांव के दबंगों ने किसान को अपराधी बनने पर कर दिया मजबूर, अब दुश्मनों की गोली का शिकार हो गया नवगछिया का कुख्यात खोखा सिंह

गांव के दबंगों ने किसान को अपराधी बनने पर कर दिया मजबूर, अब दुश्मनों की गोली का शिकार हो गया नवगछिया का कुख्यात खोखा सिंह

भागलपुर। भागलपुर सहित कई जिलों में अपराधिक घटना को अंजाम दे चुके नवगछिया में कुख्यात खोखा सिंह की उसके दुश्मनों ने गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक कदवा का रहने वाला था।  हत्‍या अपराधियों की आपसी रंजिश के कारण हुई है। मृतक के विरूद्ध नवगछिया सहित कई जिलों में हत्‍या सहित कई अन्‍य मामलों में प्राथमिकी दर्ज है। 

जानकारी के अनुसार खोखा सिंह अपने चचेरे भाई रंजीत कुमार के साथ घर से बाइक पर निकला था। रंजीत बाइक चला रहा था। गोला टोला कदवा के पास 14 नंबर रोड पर एक अपाची पर सवार तीन अपराधियों ने उसे ओवरटेक किया। उसके बाइक को रोका। फ‍िर खोखा सिंह और रंजीत पर गोली चला दी। दोनों को गोली मारने के बाद तीनों अपराधी अपनी बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। गोली लगने से दोनों गंभीर रूप से जख्‍मी हो गया। खोखा सिंह को कदवा ओपी पुलिस ने इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल नवगछिया पहुंचाया। लेकिन इससे पहले ही उसकी मौत हो गई थी। खोखा सिंह को पंजरा में गोली मारी गई थी। शव का पोस्‍टमार्टम किया गया। वहीं जख्‍मी रंजीत कुमार का इलाज ढोलबज्जा अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र में हो रहा हैं। रंजीत को हाथ में गोली लगी है। उसका दो अंगुली उड़ गया है।  रंजीत भी अपराधी है। पुलिस की सुरक्षा में उसका इलाज चल रहा है।  

एक अपराधी के हत्यारों को फांसी की सजा की मांग

पुलिस अधीक्षक सुशांत कुमार सरोज ने बताया कि जमीनी विवाद और अपराधियों की पुरानी रंजीश में खोखा सिंह की हत्या हुई है। पुलिस हत्‍या के आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही हैं। घटना की जानकारी मिलने पर गोपालपुर के जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल अनुमंडल अस्पताल पहुंचे। मृतक के शव के पास गए। मृतक के स्‍वजनों को सांत्‍वना दी। उन्होंने पुलिस से हत्‍यारों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है। उन्‍होंने कहा कि दोषियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।  

किसानी छोड़ कर आया अपराध की दुनिया में

बताया गया खोखा सिंह पहले किसानी का काम करते था। कुलानंद सिंह गिरोह के आतंक के कारण वह यहां से भाग गया था। इस गिरोह के सदस्‍य में खोखा सिंह का फसल लूट लेते थे। इस कारण वह मधेपुरा चला गया। वह वहां चौसा रहने लगा। इसी दौरान वह फैजान गिरोह के संपर्क में आया। उनके इस गिरोह के साथ मिलकर अपराधी की दुनिया में कदम रखा। खोखा सिंह फैजान गिरोह का मुख्य सदस्य था।


Find Us on Facebook

Trending News