भागलपुर में ऐतिहासिक महत्व की साढ़े 6 फ़ीट ऊंची मूर्ति मिली, युवाओं और बच्चों में सेल्फी लेने की लगी रही होड़

भागलपुर में ऐतिहासिक महत्व की साढ़े 6 फ़ीट ऊंची मूर्ति मिली, युवाओं और बच्चों में सेल्फी लेने की लगी रही होड़

डेस्क...  भागलपुर में ऐतिहासिक महत्व की साढ़े 6 फ़ीट ऊंची मूर्ति मिली है। लोग मूर्ति करे गौतम बुद्ध मान रहे। TMBU के प्राचीन इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के अध्यक्ष डॉ. बिहारीलाल चौधरी ने बताया, यह यक्ष जैसी लग रही है तथा पालकालीन विशेषताओं से युक्त है। 

इस मूर्ति को जिला मुख्यालय से करीब 24 किमी पश्चिम में स्थित शाहकुंड प्रखंड में खुदाई के दौरान प्राप्त किया गया है। प्रखंड के खेरही कस्बा के मिश्रा टोला में मोतीलाल मिश्रा की जमीन पर नाले की खुदाई हो रही थी। इसी बीच मजदूर का कुदाल किसी ठोस पत्थर से टकराया। आसपास के लोगों ने मजदूरों को सहेज कर खुदाई करने के निर्देश दिए। फिर सहूलियत से खुदाई शुरू हुई, जिस दौरान ढ़ाई फीट नीचे यह मूर्ति मिली। इस आदमकद प्राचीन मूर्ति के मिलने से स्थानीय लोग भौंचक्के रह गए हैं। स्थानीय युवाओं और बच्चों में मूर्ति के साथ फोटो और सेल्फी लेने की होड़ लग गई। 

कहलगांव में भी मिली थी मूर्तियां

भागलपुर जिले के कहलगांव में प्राचीन विक्रमशिला बौद्ध महाविहार अवस्थित है जो तंत्रयान का एक प्रमुख केंद्र है। कुछ दिन पहले भी यहां दो प्राचीन मूर्तियां मिली थीं, जिन्हें ग्रामीण संरक्षित किये हुए हैं।

इन क्षेत्रों की खुदाई जरूरी

एस एम कालेज के प्राचार्य इतिहासविद प्रो. रमन सिन्हा का कहना है कि प्राचीन अंग क्षेत्र के भागलपुर के गुवारीडीह तथा बांका जिला के भदरिया के साथ शाहकुंड में पुरातात्विक अवशेष मिले हैं। जरुरी है कि इन जगहों की शीघ्रातिशीघ्र खुदाई कराई जाए।

Find Us on Facebook

Trending News