तेजस्वी जी जब हम इंजेक्शन देते हैं तब भ्रष्टाचारी आह करते हैं और जनता वाह वाह करती है,जनादेश का मातम मत मनाइए

तेजस्वी जी जब हम इंजेक्शन देते हैं तब भ्रष्टाचारी आह करते हैं और जनता वाह वाह करती है,जनादेश का मातम मत मनाइए

PATNA : शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी के इस्तीफे के बाद भी अभी बिहार की सियासत पूरी तरह गरम है. इसी कड़ी में आज जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजनीतिक पवित्रता का हमेशा ध्यान रखा है. हम न गलत करते है और न ही किसी को फंसाते हैं. हम इसी नीति पर काम करते हैं. उन्होंने कहा की मेवालाल चौधरी की चर्चा पर आश्चर्य इस बात का है कि इस पर तेजस्वी यादव बोल रहे हैं. वो लंबे समय तक विपक्ष के नेता रहे हैं. उनको अधिकार नहीं है सवाल पूछने का. उन पर तो खुद अनेकों आरोप है. क्या उन्होंने आरोपों पर जवाब दिया है.

वहीँ जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा कि हम न किसी को फंसाते है और न ही किसी को बचाते हैं. मेवालाल चौधरी के मामले में ये दिख चुका है. जो लोग हम पर प्रश्न खड़ा कर रहे है. उनको खुद देखना चाहिए उनका आचरण और सार्वजनिक जीवन कैसा है. उन्होंने कहा की नीतीश कुमार जब रेल मंत्री थे. तब नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दिया. बिहार में सीएम पद से इस्तीफा देकर जीतनराम मांझी को सीएम बनाया था. उम्मीद है अब तेजस्वी यादव भी सार्वजनिक जीवन में आदर्श स्थापित पर विपक्ष के नेता के तौर पर इस्तीफा देंगे.

वहीँ जदयू के वरिष्ठ नेता नीरज कुमार ने कहा कि तेजस्वी जी को जनादेश नहीं मिला है. उसका मातम मना रहे है. जब हम इंजेक्शन देते है ना तो भ्रष्टाचारी आह करते है और जनता वाह करती है. हम अपराध और भ्रष्टाचार पर कभी समझौता नहीं करते हैं. तेजस्वी यादव राजनीति को कहां ले जाना चाहते हैं. भ्रष्टाचार के साथ साथ आप पर कई आपराधिक मामला दर्ज है. लालू फेमिली में भ्रष्टाचार करना डैली निड ऐसेट में है. तेजस्वी यादव को सदन में शपथ लेते वक्त अपने उपर लगे सभी धाराओं का भी जिक्र करना चाहिए. 

पटना से देबांशु प्रभात की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News