भूलकर कर भी ना करें वैलेंटाइन डे में ऐसा, जाना पड़ सकता है जेल

भूलकर कर भी ना करें वैलेंटाइन डे में ऐसा, जाना पड़ सकता है जेल

डेस्क...वैलेंटाइन डे नजदीक आ रहा है यानी प्‍यार के इजहार का दिन. इस दिन लोग अपने क्रश के सामने अपने प्‍यार का इजहार करते हैं. प्‍यार के इस इजहार में कई बार लोगों को इश्‍क की मंजूरी मिलती है तो कई बार इनकार भी मिलता है. ऐसे में अगर आपको अपने इजहार के बदले इनकार मिला है तो इसे भी स्‍वीकार करना जरूरी है. कई बार इनकार मिलने पर लोग ऐसी गलतियां कर देते हैं जो कानूनीतौर पर मुसीबत पैदा कर सकती है. ऐसे में आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि एक्‍सप्रेशन ऑफ लव और इव टीजिंग (Eve Teasing) के बीच क्‍या अंतर होता है. 

कई बार हम प्‍यार के इजहार में जबरदस्‍ती करने लगते हैं जो इव टीजिंग की कैटैगरी में आ जाता है. तो इस वैलेंटाइन डे पर ऐसी गलतियों से दूर रहें. कई बार यह देखने को मिला है कि प्‍यार में इनकार मिलने पर लोग जबरदस्‍ती करने की कोशिश करने लगते हैं. सामने वाले से हां के लिए जिद्द करने लगते हैं. कई बार ऐसे हालात में लोग आक्रामक भी हो जाते हैं. आपको बता दें कि यह दरअसल सही नहीं है. आप किसी से जबरदस्‍ती प्‍यार नहीं पा सकते. यही नहीं, अगर उसने पुलिस में शिकायत कर दी तो आपको और मुसीबत झेलनी पड़ सकती है. अगर आपके इजहार को न कहा गया तो इसे इसी रूप में स्‍वीकार करें. फिल्मी अंदाज में न को हां न समझें. यह समझदारी दिखाएं कि अगर किसी ने आपको न किया है तो इसका हर मतबल केवल न ही है.

अगर आपने सामने वाले के न कहने के बाद भी उसे परेशान किया तो आपके साथ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है. वैलेंटाइन डे पर प्यार का इजहार पूरी शालीनता के साथ करें और सामने वाले के डिसीजन को भी पूरी इज्‍जत दें. क्‍योंकि अगर आपने कुछ अजीबोगरीब तरीके से अपने प्‍यार का इजहार किया तो हो सकता है कि आपको हां के बदले न ही मिले. इसलिए ऐसा कोई काम न करें जिसमें सामने वाले को बेइज्‍जत होना पड़े. आपको पता होना चाहिए कि अगर आप किसी का पीछा कर रहे हैं या किसी को जबरदस्‍ती रास्‍ते में रोक रहे हैं या बात करने की कोशिश कर रहे हैं तो यह कानूनी अपराध है. ऐसे अपराध का हिस्‍सा बनने से बचें. कई बार यह मामला सामने आया है कि प्रेम में इनकार मिलने पर आपराधिक घटनाएं हो गईं. आप किसी को प्रेम के लिए जबरदस्ती नहीं कर सकते है इसलिए अगर आप को किसी की ना सुनने को मिलता है तो इस सच्चाई को स्वीकार करना चाहिए ना की बदले की भावना लानी चाहिए क्यों की बदले की भावना आप को ही नुकसान पहुंचती है और किसी को इससे नुक्सान नहीं होता है.    

Find Us on Facebook

Trending News