कुशवाहा पर गरम बिहार की सियासत, अब बीजेपी और रालोसपा आमने - सामने

कुशवाहा पर गरम बिहार की सियासत, अब बीजेपी और रालोसपा आमने - सामने

PATNA : उपेन्द्र कुशवाहा ने अकेले ही बिहार की सियासत में भूचाल खड़ा कर रखा है. नीतीश कुमार को NDA के अंदर बैकफुट पर धकलने के लिए कुशवाहा की 'नीच' पॉलिटिक्स फेल हो गई है. बिहार बीजेपी के सबसे कद्दावर नेता डिप्टी सीएम सुशील मोदी की तरफ से उपेन्द्र कुशवाहा को आइना दिखाए जाने के बाद अब रालोसपा में बेचैनी है. रालोसपा नेता इस बात से खासे नाराज़ हैं की सुशील मोदी नीतीश कुमार के लिए बैटिंग कर रहे हैं. लिहाजा रालोसपा ने नीतीश कुमार के साथ – साथ सुशील मोदी को भी निशाने पर ले लिया है. 

रालोसपा की नसीहत 

आरएलएसपी के राष्ट्रीय महासचिव आनंद माधव ने आज एक बार फिर से नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर कटाक्ष किया है. उन्होनें ट्वीट कर कहा है कि नीतीश जी आपको तोड़-फोड की राजनीति से फुर्सत मिल गई हो तो थोड़ा कानून-व्यवस्था पर भी ध्यान दीजिए। उन्होंने सुशील मोदी पर भी तंज कसते हुए कहा है कि आप अपने पैरोकार को भी समझाइए की काम पर ध्यान दें,समय कम बचा हुआ है। इसके पहले मंगलवार को आरएलएसपी महासचिव ने सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि वे बिना फीस के वकील ना बनें।

बीजेपी ने किया भी पलटवार

बिहार बीजेपी के नेताओं को को अपने नेता डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर रालोसपा का हमला नागवार लग रहा है. लिहाजा अब बीजेपी के दूसरी कतार के नेता भी खुलकर बयानबाज़ी में उतर गए हैं. बीजेपी प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने उपेन्द्र कुशवाहा पर हमला बोलते हुए कहा कि नाखून कटाकर शहीद होने वाले का चरित्र सदा संदिग्ध रहा है. सुशील मोदी पर बोलने वाले को पहले अपने नेता के चरित्र का आकलन करना चाहिये। नीतीश कुमार से हीनता के शिकार का इलाज शायद ही कहीं हो. 


Find Us on Facebook

Trending News