न्यूज़4नेशन की खबर का बड़ा असर! 'गबन करने वाले नाजिर पर बीडीओ मेहरबान' खबर पर डीएम ने लिया संज्ञान, ADM व ASP मुख्यालय को दिया जांच का आदेश

न्यूज़4नेशन की खबर का बड़ा असर! 'गबन करने वाले नाजिर पर बीडीओ मेहरबान' खबर पर डीएम ने लिया संज्ञान, ADM व ASP मुख्यालय को दिया जांच का आदेश

MOTIHARI : न्यूज़4 नेशन के खबर पर एक बार फिर बड़ा असर हुआ है । 'गबन करने वाले नाजिर पर बीडीओ मेहरवान,15 दिन बाद भी नही हुई प्राथमिकी' खबर चलने पर मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने संज्ञान लेने हुए जांच टीम का गठन किया है। डीएम ने अपर समाहर्ता आपदा विभाग व पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय को 24 घंटे में जांच का निर्देश दिया है । 

डीएम ने जारी पत्र में बताया है कि बंजरिया प्रखंड पूर्व नाजिर द्वारा छह लाख गबन करने के मामले में 15 दिनों में प्राथमिकी दर्ज नही करने की खबर प्रकाशित किया गया है । इस संबंध में आवेदन के बाद भी बंजरिया थाना अध्यक्ष द्वारा 15 दिनों बाद प्राथमिकी दर्ज क्यो नही किया गया?बंजरिया बीडीओ की प्राथमिकी दर्ज कराने में 15 दिनों में क्या भूमिका रही?इसकी जांच कर 24 घंटा में प्रतिवेदन देने का निर्देश दिया गया है ।डीएम के जांच के आदेश के बाद प्रखंड व थाना के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है।


यह है पूरा मामला

बंजरिया थानेदार के अनुसार बंजरिया बीडीओ द्वारा 22 जुलाई को प्रखंड के  पूर्व नाजिर  अभिषेक कुमार पर पंचायत चुनाव के एनआर का लगभग 6 लाख रुपया ट्रेजरी में जमा नही कर गबन करने व प्रखण्ड कार्यालय से टीवी,प्रिंटर व महत्वपूर्ण दसतावेज चोरी करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने के लिए थाना को आवेदन भेजा गया .आवेदन में बीडीओ का पूर्ण नाम पता नही होने व अपूर्ण आवेदन होने को लेकर बंजरिया थाना अध्यक्ष द्वारा आवेदन को सुधार कर देने की बात कही गयी ।आवेदन वापसी के 15 दिन बीतने के बाद भी बीडीओ द्वारा प्राथमिकी के लिए दुबारा अवेदन थाना को नही दिया गया । 

जब यह मामला सामने आया था कि बीडीओ ने नाजीर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आवेदन दिया था को खूब चर्चा हुई थी। लेकिन जैसे ही आवेदन मे सुधार करने के थाने से लेटर वापस भेजा गया, उसके बाद से मैनेजिंग करने का खेल शुरू हो गया। मामले में जब बीडीओ से जानकारी मांगी गई तो उनका कहना था कि गबन की राशि की मिलान किया जा रहा है ।वही प्रखंड के समान की भंडार पंजी से मिलान किया जा रहा है ।मिलान के बाद वरीय पदाधिकारी से निर्देश प्राप्त करने के बाद प्राथमिकी दर्ज करायी जाएगी। 

क्या 15 दिन पहले बिना मिलान किया आवेदन

खुद को बचाने के लिए बीडीओ ने जो तर्क दिया, उस पर सवाल उठ रहे हैं। लोगों का कहना है कि क्या 15 दिन पहले दिन बिना वरीय पदाधिकारी के निर्देश के व गबन की राशि मिलान किये थाना में प्राथमिकी के लिए आवेदन दिया गया था। बंजरिया थाना अध्यक्ष संदीप कुमार ने बताया कि अगर सुधार के बाद दोबारा आवदेन किया गया तो तत्काल केस दर्ज किया जाएगा। 

बहरहाल, अब मामले में जिले के डीएम के दखल के बाद नाजीर को बचाने के लिए बीडीओ की तमाम कोशिशें असफल हो गई है।


Find Us on Facebook

Trending News