बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन होगा ? इन नेताओं के नाम की चर्चा ...

बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन होगा ? इन नेताओं के नाम की चर्चा ...

बिहार बीजेपी के अध्यक्ष नित्यानंद राय अब केंद्रीय मंत्री बन गए हैं।लिहाजा अब वे बहुत दिनों तक अध्यक्ष के पद पर नहीं रह सकते।लिहाजा बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन होगा इस पर चर्चा शुरू हो गयी है।प्रदेश दफ्तर में भी दबी जुबान से पार्टी के कार्यकर्ता कई नेताओं के नाम पर चर्चा कर रहे हैं।अध्यक्ष पद के लिए 5-7 नामों की चर्चा काफी तेज है ।

चर्चा में हैं आधे दर्जन नाम

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय बिहार के सफलतम प्रदेश अद्यक्ष साबित हुए हैं।उनके नेतृत्व में पार्टी बिहार के लोकसभा चुनाव में 100 फीसदी सीटों पर जीत हासिल की है।लिहाजा नेतृत्व ऐसा विकल्प खोज रहा है जो आगामी विधानसभा चुनाव में भी सफल रूप से पार्टी का नेतृत्व कर सके।बीजेपी आलाकमान प्रदेश अध्यक्ष के  सक्षम व्यक्ति के साथ-साथ सामाजिक समीकरण पर ध्यान केंद्रित किए है।

पिछड़ा के बाद सवर्ण अध्यक्ष की चर्चा

वर्तमान अद्यक्ष नित्यानंद राय पिछड़ा समाज से आते हैं।इसलिए खबर है कि इस बार अध्यक्ष अगड़ा समाज से बनाया जाए।पहलाा नाम बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र सिंह का आता है। वे आरएसएस से जुड़े हैं और उऩकी पकड़ संगठन में काफी मजबूत है।उनकी बिहार में अच्छी पकड़ है ।पिछला विधानसभा का चुनाव भी लड़े थे लेकिन हार का सामना करना पड़ा था।वहीं बीजेपी के विधान पार्षद सच्चिदानंद राय के नाम की भी काफी चर्चा है।वे वर्तमान में विधानपरिषद के सदस्य हैं ।ये काफी पढ़-लिखे और स्वच्छ छवि के राजनेता हैं।वहीं पिछड़े समाज से अध्यक्ष पद की चर्चा में सबसे पहला नाम डा. प्रेम कुमार का तैर रहा है।वे पार्टी के वरिष्ठतम नेता हैं और पिछड़ी समाज से आते हैं।

विधायक मिथिलेश तिवारी के नाम की भी काफी चर्चा है। वे भी स्वच्छ छवि के नेता हैं। वहीं रामकृपाल यादव की जगह नित्यानंद राय को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह दिए जाने पर के बाद रामकृपाल का नाम भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल हो गया है।दोनों एक हीं समाज यानि यादव जाति से आते हैं।बीजेपी बिहार में यादव वोटरों को तोड़ने की कोशिश में जुटी है ।इसलिए नेतृत्व एक बार फिर से यादव अध्यक्ष पर दांव लगा सकता है।

वहीं छपरा के सांसद राजीव प्रताप रूढ़ी के नाम की भी चर्चा है।लेकिन इन चर्चाओं के बीच बीजेपी नेतृत्व अद्यक्ष को लेकर कोई हडबडी में नहीं है।संभावना है कि बिहार को नया अध्यक्ष मिलने में अभी समय लगेगा।तब तक नित्यानंद राय केंद्रीय मंत्री के साथ-साथ अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी एक साथ निर्वहन करते रहेंगे

Find Us on Facebook

Trending News