BIHAR CRIME: खुलेआम घूम रहे RTI एक्टिविस्ट के हत्यारे, लचर कार्रवाई से नाराज पत्नी ने किया आत्मदाह का प्रयास, मचा हड़कंप

BIHAR CRIME: खुलेआम घूम रहे RTI एक्टिविस्ट के हत्यारे, लचर कार्रवाई से नाराज पत्नी ने किया आत्मदाह का प्रयास, मचा हड़कंप

MOTIHARI: मोतिहारी में RTI कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल हत्याकांड के तीन सप्ताह वितने के बाद भी मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने व हरसिद्धि थाना पुलिस की कार्यकलाप से असंतुष्ट परिजनों से अरेराज -छपवा सड़क को जामकर जमकर हंगामा किया। वहीं मृतक आरटीआई कार्यकर्ता की पत्नी ने न्याय नही मिलने पर हाथ का नस काटकर आत्मदाह करने का प्रयास किया।

पत्नी ने बीच सड़क पर काटी कलाई की नस

मृतक विपिन के परिजन आरटीआई हत्याकांड के मुख्य सरगना सहित उसमें शामिल सभी की गिरफ्तारी व सजा दिलाने की मांग पर अड़े है । आरटीआई कार्यकर्ता की पत्नी सहित परिवार ने इंसाफ की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। सूचना पर हरसिद्धि पुलिस पहुचकर जाम को हटाने का प्रयास कर रही है। काफी देर से जारी हंगामे की वजह से सड़क जाम हो गया है और गाड़ियों की लंबी कतार लगी हुई है। पुलिस द्वारा समझाने पर विपिन की पत्नी बिफर गई और हाथ की नस काटने का प्रयास करने लगी। इसे देखकर वहां मौजूद लोग हरकत में आ गए और ब्लेड छीनकर मरहम पट्टी की गई। परिजन लगातार जिला के वरीय पदधिकारी के बुलाने के मांग पर अड़े हुए हैं, जबकि हरसिद्धि पुलिस पहुचंकर जाम हटवाने के प्रयास में जुटी है।

क्या है RTI कार्यकर्ता की हत्या का मामला

24 सितंबर को दिनदहाड़े प्रखण्ड गेट के पास आरटीआई कार्यकर्ता विपिन अग्रवाल को अपराधियो द्वारा गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गयी थी ।परिजनों द्वारा अज्ञात अपराधियो के विरुद्ध हरसिद्धि थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी ।घटना के बाद एसपी नवीन चन्द्र झा द्वारा गठित एसआईटी टीम ने दो अपराधियो को हथियार के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया ।वहीं घटना में शामिल तीन अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है । पुलिस सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार अपराधियो ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया था कि   हरसिद्धि बाजार की सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने के लिए 20 लाख में आठ लोगो द्वारा सुपारी देकर हत्या करवाया गया था ।पुलिस गिरफ्तार अपराधियो के निशानदेही पर अग्रतर करवाई में जुटी है।

भाजपा नेता भी है पुलिस की रडार पर

अपराधियो द्वारा बताए गए एक भजपा के नेता को पुलिस द्वारा हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद पीआर बॉन्ड पर छोड़ा गया था। खुलासे के बाद भी कार्रवाई नहीं होने और मामले में ढील देने का विरोध जताने के लिए आज परिजन सड़क पर उतरे थे।


Find Us on Facebook

Trending News