बिहार सरकार ने जारी किया बिहार डायरी और 2023 का कैलेण्डर, सीएम नीतीश ने किया लोकार्पण

बिहार सरकार ने जारी किया बिहार डायरी और 2023 का कैलेण्डर, सीएम नीतीश ने किया लोकार्पण

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिवालय स्थित अपने कार्यालय कक्षा में बिहार सरकार के सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा प्रकाशित बिहार डायरी 2023 एवं कैलेण्डर 2023 का लोकार्पण कर राज्य की जनता को समर्पित किया। इस बार बिहार डायरी 2023 मधुबनी पेंटिंग की कारीगरी से आकर्षक कलेवर में है तथा इसमें जल- जीवन - हरियाली के तथ्यों को भी प्रचारित किया गया है।

कैलेन्डर में भी प्रत्येक वर्ष की भांति बिहार के विविध खूबसूरत दृश्यों को उकेरा गया है बिहार द्वारा अपने सीमित संसाधनों के बूते सभी क्षेत्रों में विकास की अदभूत मिसाल को दर्शाया गया है। कोविड काल की विषम परिस्थितियों में भी आधारभूत संरचना के क्षेत्र में तय सीमा में कार्यों को पूरा करना अद्वितीय संकल्प शक्ति का परिचायक है। इसी तरह विकास की नई राह बनाता जे०पी० गंगा पथ, मोक्षदायिनी फल्गु में तर्पण के लिए सालों भर जल की उपलब्धता हेतु बनाया गया गयाजी रबर डैम, पर्यटन को नई ऊँचाई प्रदान कर रही राजगीर वन्य प्राणी सफारी, महिला सशक्तिकरण का अद्भूत प्रतीक जीविका, स्वास्थ्य सेवाओं में हुए विकास, नई नियुक्तियाँ एवं रोजगार के अवसर इमरजेंसी रिस्पॉस सपोर्ट सिस्टम के रूप में कार्यरत डायल 112 सेवा, 7 निश्चय-2 के सभी सातों आयाम, स्टार्ट अप नीति एवं औद्योगिक विकास, सिग्नेचर बिल्डिंग्स, एलिवेटेड सड़कें एवं फ्लाईओवर आदि कुछ ऐसे प्रतिमान है जिन्हें इस कैलेन्डर के प्रत्येक पृष्ठ पर दर्शाया गया है जो विकास के नये प्रतिमानों के रूप में प्रगतिमान बिहार के सोपान-दर-सोपान बढ़ने की कथा बताता है।

माह जनवरी के पृष्ठ पर राजगीर वन्य प्राणी सफारी जो पर्यटकीय सुविधाओं से युक्त अपने मनोरम वातावरण एवं प्रकृति के अनुपम सानिध्य के कारण पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है, उसकी कहानी चित्रित है। माह फरवरी के पृष्ठ पर बिहार में हाल में नए उत्कृष्ट भवनों (सरदार पटेल भवन, सम्राट अशोक कन्वेंशन केन्द्र, राजगीर अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर, सभ्यता द्वार, महाबोधि सांस्कृतिक केन्द्र बोधगया, अंजुमन इस्लामिया हॉल, पटना, प्रकाश पुंज, पटना, बिहार सदन, नई दिल्ली आदि) के चित्र है। माह मार्च पृष्ठ पर पटना में दीघा से दीदारगंज तक 20.5 किमी तक विस्तृत जे०पी० गंगा पथ की भव्यता चित्रित है। माह अप्रैल पृष्ठ पर सरकारी महकमों में बढ़ती नियुक्तियों से खिले चेहरे चित्रित है। माह मई पृष्ठ पर जीविका संगठन द्वारा बिहार में महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में सफलता की कई इबारतें है जिसमें सरकारी अस्पतालों में दीदी की रसोई के संचालन का बेहतरीन मिसाल प्रदर्शित है कोरोना के संक्रमण काल में दीदी की रसोई के संचालन से ना केवल हेल्थकेयर के बेहतर प्रबंधन में मदद मिली बल्कि महिला समूहों की आत्मनिर्भरता में भी वृद्धि हुई। मास्क निर्माण से लेकर सिलाई के क्लस्टर तथा शराब की बोतलों से चूड़ी का निर्माण जीविका संगठन की अद्यतन पहल है। माह जून पृष्ठ पर अब आगजनी, दुर्घटना, पुलिस सहायता एवं मेडिकल इमरजेंसी समेत किसी भी आपात स्थिति में सहायता के लिए सिर्फ 112 नम्बर को डायल करना होगा। यह निःशुल्क सेवा है। इस पर आपात समय में कॉल करने पर महत 15 मिनट के अंदर मदद पहुँचायी जाती है। इस सेवा के सुगम संचालन के लिए बिहार पुलिस रेडियो कैम्पस स्थित नवनिर्मित इमरजेंसी रिस्पान्स सपोर्ट सिस्टम के कमांड एवं कन्ट्रोल सेन्टर की शुरूआत की गयी है। इस कमांड एवं कंट्रोल सेन्टर का पूरा संचालन हमारी दक्ष महिला पुलिस कर्मियों के हाथों में है। 

माह जुलाई पृष्ठ पर राज्य को विकास की और ऊंचाईयों तक पहुंचाते हुए सक्षम एवं स्वावलंबी बिहार बनाने के निश्चय के साथ 07 निश्चय भाग-2 का क्रियान्वयन किया गया है। बहुआयामी विकास की अवधारणा को संजोती सात निश्चय-2 की योजनाओं में युवा शक्ति बिहार की प्रगति, सशक्त महिला सक्षम महिला, डर खेत तक सिंचाई का पानी, स्वच्छ गांव समृद्ध गांव, स्वच्छ शहर विकसित शहर, सुलभ सम्पर्कता तथा सबके लिए अतिरिक्त स्वास्थ्य सुविधा के निश्चय शामिल हैं। माह अगस्त पृष्ठ पर बदले हुए बिहार का परिचायक एक महत्वपूर्ण यहाँ की सड़कें हैं। नई एवं महत्वपूर्ण सड़कों के निर्माण ने न केवल आवागमन सुगम किया है अपितु अर्थव्यवस्था को भी मजबूती प्रदान की है। पटना में पाटलि पथ तथा अटल पथ इसका उदाहरण है। एम्स दीघा एलीवेटेड रोड का नामकरण पाटलि पथ किया गया है। बिहार में पटना में कई महत्वपूर्ण चिकित्सा संस्थान मौजूद हैं। पटना शहर खासकर एम्स से उत्तरी बिहार को बेहतर संपर्कता प्रदान करने के लिए इस एलिवेटेड रोड का निर्माण कराया गया। करीब 11 किलोमीटर लम्बा यह फ्लाईओवर, शहर में अवस्थित पूर्वी क्षेत्र का सबसे लम्बा अलिवेटेड मार्ग है। इसके बनने से उत्तरी पटना और दक्षिणी पटना को कई वैकल्पिक मार्ग मिल जाते है। माह सितम्बर पृष्ठ पर मुख्यमंत्री जी के प्रयास से गया में मोक्षदायिनी फल्गु नदी पर निर्मित देश का सबसे बड़ा रबर डैम अनिचित्रित है। माह अक्टूबर पृष्ठ पर मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना में जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत सतत् सौर ऊर्जा अभियान स्वरूप ऊपर बिजली नीचे मछली को दर्शाया गया है। माह नवम्बर पृष्ठ पर राज्य में बढ़ती औद्योगिक गतिविधियाँ दर्शायी गई है। जिसमें राज्य में औद्योगिक विकास को सुनिश्चित करते हुए नीतिगत ढाँचे में बदलाव करते हुए इथेनॉल पॉलिसी, टेक्सटाइल एवं लेदर पॉलिसी साथ-साथ स्टार्टअप पॉलिसी निरूपित है। माह दिसम्बर पृष्ठ पर चिकित्सा सेवाओं हेतु आधारभूत संरचना स्वरूप नवनिर्मित राजकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल पैठना भागनबिगडा, रहुई नालंदा तथा बिहार राज्य मानसिक स्वास्थ्य एवं सहबद्ध विज्ञान संस्थान कोइलवर भोजपुर के चित्र दर्शाये गये हैं।

बिहार डायरी एवं कैलेण्डर के लोकार्पण के अवसर पर जल संसाधन सह सूचना एवं जन-सम्पर्क मंत्री संजय कुमार झा, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के सचिव सह सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार एवं मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News