बिहार की इन 20 विस सीटों पर फंसा है पेंच, जेडीयू ने लोजपा को लेकर साफ कर दिया है अपना स्टैंड....

बिहार की इन 20 विस सीटों पर फंसा है पेंच, जेडीयू ने लोजपा को लेकर साफ कर दिया है अपना स्टैंड....

पटना : बिहार में विधानसभा चुनाव को देखते हुए सियासी पारा चढ़ गया है. चुनाव से पहले एनडीए के दो दलों की बच मचा रार अब और तेज हो गया है. जदयू और लोजपा के बीच चल रही तनातनी के बीच अब जदयू ने खुलकर चिराग का विरोध कर दिया है.जदयू ने साफ कर दिया है कि सीट बंटवारे को लेकर वो लोजपा से बात नहीं करेगी. दिल्ली में जदयू सांसद ललन सिंह और आरसीपी सिंह ने भूपेन्द्र यादव से बात की है. इस बातचीत में जदयू ने साफ कह दिया है कि सीट बंटवार के मुद्दे पर बीजेपी लोजपा से बात करे जदयू लोजपा से बात नहीं करेगी.जदयू सीएम नीतीश को लेकर लोजपा चीफ के रवैये से नाराज है. इसलिए जदयू ने साफ कर दिया है कि सीट शेयरिंग को लेकर वो लोजपा से बात नहीं करेगी.

जेडीयू ने क्लियर कर दिया स्टैंड

बता दें कि 2015 के विधानसभा चुनाव में लोजपा को जितनी सीटें मिली थी उसमें आधे सीटों पर जेडीयू कैंडिडेट के हाथों पार्टी प्रत्याशी की करारी हार हुई थी. ऐसी 20 सीटें हैं जहां 2015 के चुनाव में जेडीयू प्रत्याशी ने लोजपा कैंडिडेट को हराकर चुनाव जीता था.इस बार लोजपा अगर एनडीए के साथ रही तो उन सीटों को जेडीयू किसी कीमत पर छोड़ नहीं सकता।क्यों कि सत्ताधारी दल का वह सीटिंग सीट है।वहीं कई ऐसी भी सीटें है जिसे लोजपा लेना चाहती है लेकिन जेडीयू ने स्पष्ट कर दिया है कि  सीटिंग सीट छोड़ने वाले नहीं है. जेडीयू लोजपा को तवज्जो नहीं देने का मन बना लिया है और बता भी दिया है।

नीतीश सरकार पर आक्रामक हैं चिराग

लिहाजा लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान काफी दिनों से बिहार की सरकार और सुशासन पर सवाल खड़े कर रहे हैं. वे लगातार यह सवाल उठा रहे हैं कि बिहार में 15 सालों के शासनकाल में कई क्षेत्रों में विकास न के बराबर हुए हैं।वे लगातार शिक्षा, स्वास्थ्य, कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर नीतीश सरकार को टेंशन देते रहते हैं। लोजपा यह कहते रही है कि भले ही दावा सुशासन का किया जाता हो लेकिन बिहार की स्थिति बिल्कुल उलट है.  चिराग पासवान के आक्रामक रवैए और सरकार के कामकाज पर सवाल उठाने के बाद नीतीश कुमार के पार्टी  जेडीयू चिराग पर सीधा अटैक करने से बाज नहीं आ रही. चिराग को तो यहां तक कह दिया गया कि वे जिस डाली पर बैठे हैं उसी को काट रहे यानी कालिदास हैं.

इन 20 सीटों पर जेडीयू ने लोजपा को हराया था

 हम आपको बताएं कि वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में जिन सीटों पर जेडीयू के हाथों लोजपा प्रत्याशी की हार हुई थी उनमें- बेलसंड, बाबूबरही, त्रिवेणीगंज, ठाकुरगंज, आलमनगर, सिमरी बख्तियारपुर, कुशेश्वर स्थान, गौरा बौराम, हायाघाट, कुचायकोट, बड़हरिया, कल्याणपुर, वारिसनगर, चेरिया बरियारपुर, बेलदौर, नाथनगर, जमालपुर, अस्थामा, हरनौत और रफीगंज शामिल है.

Find Us on Facebook

Trending News