बिहार विधानमंडल : पांच दिन के मानसून सत्र में सात विधेयक किए जाएंगे पेश, चार सिर्फ शिक्षा से जुड़े

बिहार विधानमंडल :  पांच दिन के मानसून सत्र में सात विधेयक किए जाएंगे पेश, चार सिर्फ शिक्षा से जुड़े

PATNA : बिहार विधानमंडल में आज से मानसून सत्र की शुरुआत हो रही है। पांच दिन तक चलनेवाले इस सत्र में जहां विपक्ष सरकार को घेरने के लिए पूरी तैयारी में है, वहीं सरकार इस दौरान सात महत्वपूर्ण विधेयक सदन में मंजूरी के लिए प्रस्तुत करेगी। 

जिन विधेयकों को सरकार मानसून सत्र में पास कराने की कोशिश करेगी, उनमें चार सिर्फ शिक्षा से जुड़े हैं। इन सात विधेयकों में बिहार पंचायती राज संशोधन विधेयक 2021, बिहार खेल विश्वविद्यालय विधेयक 2021, आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक 2021, बिहार राजकोषीय उत्तरदायित्व एवं बजट प्रबंधन (संशोधन) विधेयक, बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021, बिहार स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2021 और बिहार माल एवं सेवा कर (संशोधन) विधेयक 2021 शामिल है। 

यह है मानसूत्र सत्र का पूरा कार्यक्रम

पांच दिनों के सत्र में पहले दिन राज्यपाल द्वारा स्वीकृत अध्यादेश को सदन पटल पर रखा जाएगा। 26 जुलाई को ही वित्तीय वर्ष 2021-22 का प्रथम अनुपूरक पेश होगा जबकि 29 जुलाई को इसपर वाद-विवाद, मतदान होगा। इसके बाद विनियोग विधेयक पेश होगा। राजकीय विधेयक व अन्य राजकीय कार्यों के लिए दो दिन आरक्षित रखे गए हैं। इसके लिए 27 व 28 जुलाई की तिथि निश्चित की है। सत्र के अंतिम दिन 30 जुलाई को सदन में गैर सरकारी संकल्प पेश होंगे।

बजट सत्र वाली घटना की नहीं होगी पुनरावृति

मानसून सत्र को लेकर विस अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने सभी विधायकों से शांतिपूर्ण और सदन की गरिमा के साथ कार्यवाही का संचालन करने देने की अपील कही है। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के लिए जो संकल्पित और संवेदनशील हैं, वो सभी सदन में शांति से भागीदारी करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष से जब महंगाई पर विपक्ष की रणनीति और हंगामे की आशंका के संबंध में सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा, बजट सत्र की तरह कोई बात नहीं होगी।


Find Us on Facebook

Trending News