बिहार में खाप पंचायत ! सुशासन राज की कानून-व्यवस्था को ठेंगा दिखाकर दी जाती है अमानवीय सजा..तस्वीर देखिए...

बिहार में खाप पंचायत ! सुशासन राज की कानून-व्यवस्था को ठेंगा दिखाकर दी जाती है अमानवीय सजा..तस्वीर देखिए...

N4N DESK:  बिहार में भी खाप पंचायत है।आप इन तस्वीरों के देख कर सहसा ये अंदाजा लगा सकते हैं कि बिहार में  लोगों के मन से कानून का भय खत्म होते जा रहा। समस्तीपुर में कुरेड़ी समाज की खाप पंचायत कानून व्यवस्था के लिए चुनौती बन गई है।

तस्वीर देखने से यह प्रतीत होता है कि कुरेड़ी समाज में देश का कानून नहीं बल्कि  अपना कानून और अदालत है।अगर कोई दोषी हुआ तो ऑन द स्पॉट सजा दी जाती है। इस जाति का पंचायत साल में एक बार होती है।पांच दिवसीय महापंचायत रविवार को समस्तीपुर से सटे शंभूपट्‌टी गाछी में शुरू हुई।

कुरेडी समाज की पंचायत जिसे खाप पंचायत कहा जा सकता है जब शुरू हुई उसके बाद हत्या के प्रयास, हत्या और वेश्यावृति के केस में दोषी पाए गए लोगों को खंभे से बांधा गया।उनके चेहरों पर कालिख पोतकर चिलचिलाती धूप में खड़ा कर दिया गया। खाप पंचायत ने महिलाओं को भी नहीं बख्सा और उनके चेहरे पर कालिख पोत कर उनके बाल काट दिए।इतना हीं नहीं कथित दोषियों के कपड़े उतारकर उन्हें बेरहमी से पीटा भी गया।खाप पंचायत में सजा देने के लिए बतौर जज  नियुक्त  किया जाता है।फिर सजा देने के लिए सिपाही के रूप में खाप पंचायत के सदस्य तैनात होते हैं। 

कुरेड़ी महापंचायत  रविवार को जब शुरू हुई  तो दूसरे जिलों से आए 40 पंचों की टीम के सामने पहला केस मधुबनी के दो लोगों का रखा गया। दोनों पर हत्या का केस था। पंचों ने बहस के बाद दोनों को हत्या के लिए दोषी माना और सजा सुनाई। सिपाहियों ने युवक के चेहरे पर कालिख पोती और तेज धूप में खंभे से बांधकर खड़ा कर दिया। पंचों के आदेश पर सिपाहियों ने महिला के बाल काट लिए ।पंचों ने दोनों पर डेढ़ लाख रुपए का आर्थिक दंड भी लगाया।

दूसरा केस मधुबनी के एक व्यक्ति का था।उसने अपनी सास से शादी करने का था। पंचों ने मामले को काफी गंभीर और समाज के लिए खतरनाक बताते हुए दोनों को दोषी पाया। सिपाहियों ने युवक के चेहरे पर कालिख पोत कर तेज धूप में खंभे से बांध दिया। वहीं, उसकी सास के चेहरे पर भी कालिख पोत कर उसके बाल काट लिए गए 


 25 जुलाई तक लगेगा पंचायत

महापंचायत में बिहार के 19 जिलों के करीब 40 हजार कुरेड़ी अपनी-अपनी समस्या लेकर आए हैं। 16 अदालतो में 40 पंचों की टीम मामले की जांच और गवाही की प्रक्रिया पूरी कर सजा देगी। महापंचायत 25 जुलाई तक चलेगी। 26 को महाभोज के बाद इसका समापन होगा।


Find Us on Facebook

Trending News